medicare Hospital

    पुसद. पुसद के मेडिकेअर मल्टीस्पेशालिटी अस्पताल के खिलाफ सीधे राज्य सूचना आयुक्त से शिकायत दर्ज की गई है. राज्य सूचना आयुक्त की पत्नी की कोरोना टेस्ट के बाद अस्पताल की कारगुजारी उजागर होने पर यह शिकायत की गई है. शिकायत में कहा गया है कि डॉक्टर ने ‘स्कोर’ का पता लगाने सीटी स्कैन का सुझाव दिया. जिसके एक काउंटर पर निर्देशित किया गया था.

    काउंटर पर बड़ी भीड़ थी. उन्हें 4,000 रुपये प्रत्येक के लिए 8,000 रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया गया. इसके बाद दो रसीदें जारी की गईं. जब सीटी स्कैन के लिए काउंटर नंबर 1 परा जाने के बाद वही भीड़ नजर आयी.

    अस्पताल परिसर छोड़ने के बाद स्कोर कम था. तब कार्यालय के लिपिक ने उनसे चिकित्सा प्रतिपूर्ति का दावा करने और बिल निकालने के लिए बिल मांगा. आत्मसमर्पण कर दिया गया और बिना किसी पैसे के सीटी स्कैन का बिल पाकर आश्चर्यचकित रह गया. पुसद ग्रामीण अस्पताल जाने की सलाह दी. सच्चाई को जानकर एमओ भी चौंक गये.

    राज्य सूचना आयुक्त ने सीएस के साथ एक शिकायत दर्ज कराई है. जिसमें आरोप लगाया गया है कि सुबह से लेकर देर रात तक आम जनता के साथ इस तरह से व्यवहार किया जा रहा था और सरकार द्वारा जारी कोरोना दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए सैकड़ों रोगियों को पंजीकृत किया जा रहा था.