Corona

  • 40 लोगों की मौत 1 हजार 839 हुए कोरोना बाधीत

यवतमाल. कोरोना महामारी के फरवरी माह में यवतमाल जिले में फिर से प्रभाव बढाने के कारण जिला प्रशासन में हडकम्प मचा हुआ है, तमाम प्रतिबंधात्मक उपायों के बीच बिते 5 दिनो में यवतमाल समेत विभिन्न तहसीलों में कोरोना संक्रमण के कारण कुल 40 लोगों की मौत हो गयी, जबकी इन पांच दिनों के भीतर बडी संख्या में कोरोना प्रभावित मरीजों में ईजाफा हुआ है. प्रशासनिक स्तर पर बिते एक सप्ताह में जारी आंकडेवारी के मुताबिक यह जानकारी सामने आयी है.

यवतमाल शहर और तहसीलों के ग्रामीण कोविड सेंटर में जांच के बाद इस दौरान 1 हजार 839 कोरोना बाधीत पाए गए. इन सभी को यवतमाल और अलग अलग तहसील के कोविड आयसोलेशन वार्ड में दाखिल किया गया है, अपर्याप्त क्षमता वाले आयसोलेशन वार्ड में बेड न होने से स्वास्थ्य विभाग की देखरेख में अब अनेक लोगों को होम आयसोलेट भी किया जा रहा है. इसी बीच कोरोना संक्रमण के बढती आंकडेवारी के बीच जिला प्रशासन और स्वास्थ्य प्रशासन ने प्रतिबंधात्मक उपाय तेज कर दिए है.

बता दें बिते वर्ष मार्च 2020से लेकर रविवार 21 मार्च 2021 तक यवतमाल जिले में अब तक 560 लोगों की मौत होने के साथ ही कुल 24 हजार 593 लोग कोरोना से बाधीत हुए,इनमें 21 हजार 997 लोगों ने कोरोना पर मात दी है. इसी बीच पिछले पांच दिनों में बडे पैमाने पर बढती कोरोना महामारी के कारण जिला प्रशासन द्वारा प्रशासन को अलर्ट मोड पर रखा गया है.

जिले में कोरोना के मरीज जहां पर मिल रहे है, वहां पर कान्टेक्ट ट्रेसिंग बढा दी गयी है, तो दुसरी ओर सभी तहसीलों में व्यापारीक और सार्वजनिक  स्थलों समेत भीडभाडवाले क्षेत्रों में दुकानदारों की कोविड 19 टेस्ट अनिवार्य कीए जाने से विविध कोविड जांच सेंटरों पर अब भी जांच प्रक्रीया की जा रही है. इसके अलावा कोरोना के मरीज जहां पर अधिक पैमाने पर पाए जा रहे है उन इलाकों को प्रशासन द्वारा प्रतिबंधित क्षेत्र घोषीत किया गया है,जिले में यवतमाल, पुसद, बाभुलगांव के वाटखेड,महागांव के हिवरासंगम समेत अन्य कुछ इलाकों में प्रतिबंधित क्षेत्र होने से वहां पर कोरोना प्रभावित के संपर्क में आए लोगों की जांच के साथ ही प्रतिबंधात्मक उपाय बढाए गए है.

हालांकी इस स्थिती के बीच फिलहाल जिले में कहीं भी पुरे दिन लॉकडाऊन की स्थिती नही है, सुबह 9 से लेकर शाम पांच बजे तक व्यापारीक स्थल, दुकानें शुरु रखी जा रही है, इसके बाद शाम से लॉकडाऊन लगता है. जिलाधिकारी ने इस स्थिती के बीच आगामी 31 मार्च तक रात के दौरान सभी तहसीलों में लॉकडाऊन के निर्देश दे रखे है.