कोरोना सर्वेक्षण में अपर्याप्त उपकरण, थर्मलगन व आक्सीमीटर कम

  • 1201 ग्रामपंचायत को छह मशीन तो जनसंख्या के लिहाज से सर्वेक्षण में पैदा हुई समस्याएं

नेर. महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना पर काबू पाने के लिए ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ यह अभियान हाथ में लिया है.  इस उपक्रम के तहत गावस्तर पर सर्वेक्षण में थर्मल गन व ऑक्सीमीटर दो उपकरण महत्वपूर्ण है. तस्वीर यह है कि अपर्याप्त उपकरणों के कारण ग्रामीण स्तर किए गए सर्वेक्षण में एक बडा अंतर है. उल्लेखनिय है कि नगर पालीका, नगर परिषद, नगर पंचायत इन स्थानों पर यही हाल देखे जा रहें है. यवतमाल जिले में महत्वपूर्ण तहसील नेर में भी यही स्थिति है. 

वर्तमान में जिले में 201 ग्रामपंचायत हैं. इनमें से 52 ग्राम पंचायतें नेर तहसील में आती है. इस ग्राम पंचायत के अंतर्गत आनेवाले सभी गांवों में ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ का सर्वेक्षण का कार्य बडे पैमाने पर शुरू हो गया है. इस सर्वेक्षण के कार्य में तीन महत्वपूर्ण एक समूह बनाया गया है. आशा, स्वास्थ्य सेवक व संबंधित अध्यापक ऐसे समूह बनाया गया है. इस समूह द्वारा यह सर्वेक्षण करने के सरकार ने निर्देश दिए है. लेकिन सर्वेक्षण करते समय परिवार के प्रत्येक व्यक्ति का तापमान और आक्सीजन की मात्रा जांचने की मशीन प्रत्येक सर्वेक्षण करनेवाले समूह दी जाना जरूरी होते हुए भी, जनसंख्या के प्रमाण में कहीं पर भी दो महत्वपूर्ण उपकरण नहीं दिए गए. ग्रामपंचायत की कुल आबादी 5 हजार है तो सर्वेक्षण चार दिनों में किया जाना है, उस लिहाज से उपकरण भी देना जरूरी रहते समय पांच या चार उपकरण वितरीत किए गए है. जिससे सर्वेक्षण करनेवाली टीम के सामने अब यह बडा सवाल खडा हो गया है, सुविधा के कारण सर्वेक्षण कब होगा, यह भी प्रशासन के सामने चुनौती है.

मैं प्रशासन से संपर्क करूंगा और उपकरण तुरंत उपलब्ध कराऊंगा, जिला प्रशासन और स्वास्थ्य प्रशासन से बात करते हुए, उन्होंने बताया कि दोनों उपकरणों को उपलब्ध कराने के लिए कार्रवाई की जा रही है. ऐसी जानकारी यवतमाल जिप स्वास्थ सभापति श्रीधर मोहड ने दी.

नेर तहसील में बडे पैमाने पर सर्वेक्षण का काम चल रहा है और टीम को सभी मशीना की जांच करने का आदेश दिया गया है, जहां भी मशीनें कम पडेगी, उन्हें स्वास्थ्य विभाग उपलब्ध कराएगा, ऐसी जानकारी तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डा. रवींद्र दुर्गे ने दी.