वन महोत्सव के दौरान सहुलीयत के दाम में पौधे उपलब्ध कराएगे- वनमंत्री संजय राठोड

  • उमरसरा वनपरिक्षेत्र में पुनर्वनीकरण को दी मान्यता

यवतमाल. पौधारोपन की मुहिम में जनता का सहयोग बढे इसलिए यह राज्य में 15 जून से 30 सितंबर 2020 तक वन महोत्सव का आयोजन किया गया है. इस वन महोत्सव के दौरान वनविभाग द्वारा जनता को सहुलीयत के दाम में पौधे उपलब्ध कराई जाएगी ऐसी जानकारी  वनमंत्री संजय राठोड द्वारा दी गई है. ‘वसंतराव नाईक हरित महाराष्ट्र अभियान’ अंतर्गत नीजी पडीत क्षेत्र और खेत के मेढ पर, रेल मार्ग के दोतर्फा, नहर की दोनो बाजु में, सामूहिक पडीत क्षेत्र और गायरान क्षेत्र पर पेड लगाने का कार्यक्रम शुरू किया है. लगभग 9 माह के पौधे 15 रु. तो 18 माह के पौधे 75 रु. में दिए जाते है. लेकिन वनमहोत्सव के दौरान 9 माह के पौधे केवल 8 रु. तो 18 माह के पौधे 40 रु. में बक्रिी के लिए उपलब्ध कराए जाएगे. जीस सरकारी यंत्रणा को पौधारोपन करना है उन्हे पौधे मुफ्त में दिए जाएगे. वनेत्तर क्षेत्र पर काफी मात्रा में पौधारोपन के लिए सभी अपना योगदान दे ऐसा आह्वान वनमंत्री संजय राठोड ने किया है. 

उमरसरा वनपरिक्षेत्र पुनर्वनीकरणास मान्यता
यवतमाल वनपरिक्षेत्र के उमरसरा में 10 हेक्टर वनक्षेत्र पर पुनर्वनीकरण के लिए वनमंत्री संजय राठोड की अध्यक्षता में उच्चाधिकार समिति ने मान्यता दी है. प्रस्ताव नुसार उमरसरा में  प्रतिहेक्टर 625 पौधे 10 हेक्टेयर परिसर में कुल 6250 पौधों का रोपन किया जाएगा. गैरसरकारी संस्था और नीजी क्षेत्र द्वारा त्रिपक्षीय करार कर वनक्षेत्र पर  पुनर्वनीकरण करने के लिए यवतमाल की  च्दिलासाज् यह औद्योगिक संस्था और च्प्रयासज् यह गैरसरकारी संस्था तथा यवतमाल वन विभाग के सहयोग से पुनर्वनीकरण का  काम किया जाएगा. राष्ट्रीय वन निती नुसार कुल भौगोलिक क्षेत्र के 33 फिसदी क्षेत्र वन नर्मिाण करने के लिए अवनत वनक्षेत्र का पुनर्वनीकरण किया जाता है. इसके लिए  प्राप्त हुए प्रस्ताव पर नर्णिय लेने के लिए  वनमंत्री की अध्यक्षता में उच्चाधिकार समिति की रचना की गई है. इस समिति में  अपर मुख्य सचिव (वने), अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक और केंद्रस्थ अधिकारी, सह सचिव (वने), वनसंरक्षक, यवतमाल सदस्य के रूप में समावेश है.