जिप स्कूल को मजबूत और अधिक मुखर बनाने के लिए सभी को काम करना चाहिए – पालकमंत्री

  • जिला परिषद ने सम्मानित किया

यवतमाल. अभिनव विकास कार्यों के मामले में महाराष्ट्र एक अग्रणी राज्य बन गया है. संजय राठोड, वन मंत्री, भूकंप पुनर्वास और जिला अभिभावक मंत्री ने कहा कि शिक्षा प्रणाली की बेहतरी के लिए हम सभी को जिला परिषद के स्कूलों को मजबूत और अधिक उपयोगी बनाने के लिए काम करना चाहिए.

दिवंगत वसंतराव नाइक को पहली बार 5 दिसंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई थी. साथ ही, संजय राठोड को पहली बार 5 दिसंबर, 2014 को राज्य मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई थी. इस अवसर के उपलक्ष्य में जिला परिषद ने एक ‘गौरव दिवस’ ​​कार्यक्रम का आयोजन किया था. इस समय वे बोल रहे थे.

सबसे पहले, जिला परिषद के प्रशासनिक भवन के सामने स्व. वसंतराव नाइक की एक विशाल प्रतिमा को पालक मंत्री राठोड के हाथों माल्यार्पण किया. कार्यक्रम की शुरुआत स्व. वसंतराव नाइक की तस्वीर की पूजा करके और दीप जलाकर की गई. इसके बाद जिला परिषद अध्यक्ष कालिदा पवार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. श्रीकृष्ण पांचाल, समाज कल्याण अध्यक्ष विजय राठोड़, शिक्षा और स्वास्थ्य अध्यक्ष श्रीधर मोहोड़, विशेष उपस्थित चिकित्सक डा. टीसी राठोड़, जिप कर्मचारी पतसंस्था के अध्यक्ष राजूदास जाधव, नवलकिशोर राठोड़, अति. मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय ठमके, मुख्य लेखा और वित्त अधिकारी श्रीमती भोंडे, उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरविंद गुडधे और विभिन्न विभागों के प्रमुखों और अधिकारियों ने अभिभावक मंत्री संजय राठोड का स्वागत किया.

इस अवसर पर पालकमंत्री राठोड़ ने कहा कि जिला परिषद के सभी चिकित्सा अधिकारी, स्वास्थ्य प्रणाली, आशा कार्यकर्ता, ग्राम सेवक, शिक्षक और जिप के सभी अधिकारी व कर्मचारी जिन्होंने जिले में कोरोना जैसी स्थिति में काम किया इन सभी की सराहना की. उन्होंने जिला परिषद की योजना और अभिनव योजनाओं को प्राथमिकता के साथ मंजूरी दी और उनके लिए बड़ी धनराशि प्रदान करने का आश्वासन दिया. जिला परिषद के अध्यक्षा कालिंदा पवार ने जिला परिषद के माध्यम से विभिन्न योजनाओं और विकास कार्यों के लिए भारी धनराशि की मांग की और यवतमाल के अभिभावक मंत्री संजय राठोड से उनके भविष्य के काम और राजनीतिक कैरियर की कामना की.

कार्यक्रम का प्रास्ताविक मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. श्रीकृष्ण पांचाल ने किया.  इसमें उन्होंने विभिन्न विभागों की माइक्रो-प्लानिंग योजनाओं, विभिन्न अभिनव योजनाओं, कायाकल्प परियोजनाओं के बारे में जानकारी दी. कार्यक्रम का संचालन शिक्षा विस्तार अधिकारी श्रीमती जोशी ने किया और आभार उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी (महिला एवं बाल विकास) विशाल जाधव ने माना.