पांच सौ परिवारों की प्रलंबित किश्त के पार्षद साकिब शहा का अनशन आंदोलन

  • दिन भर के उपवास के बाद प्रशासन सुस्त

पुसद. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मंजूर 500 घरकुलों की किश्त एक साल से प्रलंबित होने से कई घरकुल लाभार्थियों को किराये मकान तो कुछ झुग्गियों में रहना पड रहा है. इस समस्या के बारे में जानकारी मिलते ही पार्षद साकिब शहा ने नगर प्रशासन को घरकुल के लाभार्थियों को किश्त का वितरण की मांग को लेकर अनशन पर बैठना पडा.

एक घरकुल सपने को लेकर, कई बेघर गरीब लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवेदन नगर परिषद को सौंपे  गए औपचारिक आवेदन के अनुसार उन्हें घरकुल के निर्माण के लिए मंजूरी भी मिली, कुछ लोगों इसका निर्माण करने के लिए प्रथम किश्त भी मिली, अपने हक का घर मिलेगा, इस आशा में कई गरीबों को कुछ दिनों से दूसरे घर में किराये से रहना पड रहा है. कई की आर्थिक हालत ठिक नहीं होने से टेंट में आश्रय ले रहें है.

नगर परिषद कार्यालय में घरकुल की किश्त मिलने के लिए जा रहें लाभार्थियों को टालमटोल के जवाब मिल रहें थे, जिससे इन लाभार्थियों को किराये के मकान का किराया और टेंट में रहनेवाले लाभार्थियों को कडाके की ठंड का सामना करना पड रहा है. ऐसे 507 परिवारों को त्रासदी सहनी पड रही है. उनकी हालत देखकर पार्षद साकिब शहा ने पालीका के मुख्याधिकारी, नगराध्यक्ष, निर्माण विभाग के अधिकारी व सत्ताधारी पार्षद, विरोधी पार्षदों से चर्चा कर इस विषय में हल निकालने का अनुरोध किया. फिर कोई प्रतिसाद नहीं मिला, जिससे पार्षद साकिब शहा को अनशन पर बैठना पडा. मंगलवार से चल रहें आंदोलन में 500 घरकुल लाभार्थियों को पता चलने पर वे सभी अनशन मंडप पहुंचे.

इन लाभार्थियों में प्रल्हाद पाटील, अंबादास लेवेकर, सिंधु जाधव, यशवंत सोनटक्के, संदीप पांचाल ,बाबू भालेकर, प्रकाश संपत पवार, किशोर बर्डे, कांता कलाने,अशा चिकटेवार, जुलेखा बिसिक कासम, रजिया गफार चव्हाण, वत्सला मोरे, निर्मला उबाले ,दिगंबर कृष्णापुरी, सुदाम जाधव ,शेख मोबीन शेख इब्राहिम, अब्रार खान मोहम्मद खान ,परलाद बेले, जमील बेग रहीम बेग अहमद खान, साजन गव्हाणे, अब्दुल करीम अब्दुल रहीम,प्रभाकर मुलावकर, पुष्पा कृष्णापुरे, प्रदीप काले ,अमोल शेट्टीवार यांच्यासह अनेक घरकुल लाभार्थी व नागरिकों ने भी आंदोलन में हिस्सा दर्शाया.

न्याय हक की लढाई लढनेवाले पार्षद साकिब शाह के अनशन को पुसद विकास मंच के एड. सचिन नाइक ने भी समर्थन दिया. तथा आंबेडकर राईट पार्टी ऑफ इंडिया के यवतमाल जिलाध्यक्ष नामदेवराव इंगले, एम आय एम के पुसद शहराध्यक्ष सय्यद सिदिकोदिन, मनसे के जिलाध्यक्ष अभय गडम,बहुजन क्रांती मोर्चा चे संयोजक लक्ष्मण कांबले, आयुब हसीन खान, राजेश ढोले तसेच राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा, राष्ट्रीय किसान मोर्चा आदि समेत  कई सामाजिक संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने अपना समर्थन व्यक्त किया, यह कहते हुए कि प्रशासन को गरीबों के अधिकारों के लिए घर बनाने के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए, अन्यथा एक आंदोलन होगा.