Gram Panchayat Election

  • चुनाव के लिए तैयार हैं गाव के नेता

यवतमाल. जिलेभर में ग्रामपंचायत का चुनाव घोषित हुआ है. लेकिन सरपंच पद का ड्रा चुनाव के पहले या चुनाव के बाद इसका संभ्रम कायम है. तो पहले निकाला हुआ ड्रा रद्द किया गया, ऐसा निर्णय ग्रामविकास मंत्रालय ने लिया है. ऐसी जानकारी ग्राम विकास मंत्री ने देने के बाद ड्रा को लेकर संभ्रम निर्माण हुआ. जिलेवासियों में भी संभ्रम है कि, सरपंच पद का ड्रा चुनाव के पहले होगा की? या चुनाव के बाद? इसकी जानकारी प्रशासन से कब आएगी इस नजरे टिकी है. महाराष्ट्र चुनाव आयोग ने ग्राम पंचायत चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की इसलिए हर गांव में चुनाव की हवा बहने लगी है.

जिले में 980 ग्राम पंचायत चुनावों का पहला और दूसरा चरण 15 जनवरी को होगा. जिन लोगों ने पहले चरण में ग्राम पंचायत चुनाव के समय नामांकन दाखिल करते समय जाति वैधता प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया था. वे इच्छुक उम्मीदवार अब उसी पुरानी पावती पर नए नामांकन दाखिल कर सकेंगे. नए उम्मीदवारों को जाति वैधता प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना होगा. जिले में मार्च में लगभग 461 अधिक चुनाव होने थे, जो मार्च-अप्रैल में समाप्त हो रहे हैं. हालांकि, कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण ग्राम पंचायत चुनाव स्थगित कर दिए गए थे.

कोरोना ने लगभग आठ से नौ महीने के लिए चुनाव स्थगित कर दिया था. कई राजनीतिक नेताओं को कोसने के लिए तैयार थे. हालांकि, कोरोना के वजह से इच्छूक भी नाराज हो गए थे, अब वे फिर से तैयारियों में जुड गए है. अब जब चुनाव की घोषणा हो गई है, तो चर्चा फिर से शुरू हो गई है. यह तय है कि कई राजनीतिक दलों के उम्मीदवार निर्वाचित होंगे. इसलिए अब मतदाता भी विकास कार्य करने वाले उम्मीदवार का चुनाव करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं.