On an average, each administrator has the responsibility of 4 gram panchayats.

  • विधायक ससाने की अभिनव संकल्पना

उमरखेड़. विधायक नामदेव ससाने ने विधानसभा क्षेत्र के लिए एक अभिनव संकल्पना की पेशकश की है. कोरोना महामारी के कारण वित्तीय संकट से ग्रामपंचायतों को उबारने के मद्देनजर ग्रामपंचायत के चुनाव निर्विरोध कराने पर 21 लाख रुपए निधि उपलब्ध कराने की योजना रखी है.

राज्य में पहलीबार इस तरह की एक अभिनव संकल्पना सामने आई है. दो तहसीलों में उमरखेड़ और महागांव कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. इन तहसीलों में ग्रामपंचायत चुनाव की प्रक्रिया 15 जनवरी से शुरू होगी. वास्तविक मतदान प्रक्रिया 18 जनवरी को होगी. मतगणना 18 जनवरी को होगी.

विधायक ससाने ने उमरखेड़ और महागांव तहसील से पूछा 21 लाख रुपये का विकास कोष उन ग्राम पंचायतों को दिया जाएगा, जिनकी चुनाव प्रक्रिया निर्विरोध होगी. चुनाव अवधि के दौरान ग्रामपंचायत का चुनाव बिना किसी विवाद के होना चाहिए. गांव के लिए प्रत्यक्ष भागीदारी गांव के विकास में योगदान देगी.

राजनीतिक दलों की विचारधारा हमारे साथ है, लेकिन गांव हमारा है. हम अपना गांव विकसित करना चाहते हैं. यह विश्वास व्यक्त करते हुए कि उमरखेड़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र इस पहल के कारण राज्य में एक नया मानक स्थापित करेगा. विधानसभा क्षेत्र में अधिकतम ग्रामपंचायतों में बिना किसी आपत्ति के चुनाव कराने और गांव के विकास के लिए निधि जुटाने की अपील की.