गुरुदेव युवा संघ ने दी मंत्रालय पर दस्तक, वंचित, जरूरतमंद की समस्याओं को हल करने की मांग

    यवतमाल. समाज के वंचित, जरूरतमंदों की समस्याओं को शीघ्र हल करने की मांग को लेकर गुरुदेव युवा संघ ने मंत्रालय पर दस्तक दी. मनोज गेडाम को जिले के इतिहास में पहले व्यक्ति के रूप में देखा जा रहा है. जिन्होंने आम आदमी के लिए सीधे मुंबई मंत्रालय तक मामला उठाया.

    जिलास्तर पर वंचितों के हक व न्याय की लड़ाई लड़ रहे गुरुदेव युवा संघ ने कम समय में ही आम लोगों का दिल जीत लिया है. गेडाम ने अपने बयान में अंत्योदय योजना में भ्रष्टाचार, निराश्रितों को मानधन की समस्या, प्रकल्पग्रस्त प्रभावित किसानों के मुद्दे, प्रधानमंत्री स्वायत्तता कोष के मामले और अन्य मामलों पर चर्चा की गई. 

    द्वियांगों को 5,000 माधन देने की मांग

    दिव्यांगों को 5,000 रुपये और निराधारों को 1,000 रुपये मानधन देने, श्यामा मुखर्जी योजना को किसानों को कंपाउंड देने, दिव्यांगों को बुनियादी मोटर साइकिल, जनक नगरी ओमनमो नगर तालाब फेल, पाटीपुरा, पिंपलगांव, रामेश्वर नगर, देवनगर झुग्गीवासियों को दी हक कि जगह देने, अन्य जिलों में दिव्यांगो के मानधन 6 महीने पहले होते हैं.

    मांग की है कि जिले में भी यही नियम लागू किया जाए, शपथ पत्र सादे कागज पर स्वीकार किया जाए, वन विभाग में जरूरतमंदों को प्रतिदिन 430 रुपये का भुगतान किया जाए, विकलांगों को  एक रुपए किलो अनाज मिलता चाहिए.