राज्य में गीला अकाल घोषित कर किसानों की आर्थिक सहायता करें

  • आम आदमी पार्टी ने सीएम को भेजा ज्ञापन

आर्णी. राज्य में गीला अकाल घोषीत कर किसानों की आर्थिक सहायता करें तथा सरकार उनका खेतमाल शीघ्र खरीदे ऐसी मांग आम आदमी पार्टी के तालुका संयोजक वकील शेख ने किया है. आर्णी तहसीलदार के माध्यम से मुख्यमंत्री को उन्होने ज्ञापन भेजा है.

फर्जी बीज से सोयाबीन अंकुरीत नही हुए थे, दुबार बुआई के लिए किसानों को साहुकारों से कर्ज लेना पडा, फर्जी बीज कंपनी की जाच के लिए सरकार को ज्ञापन सौपा गया था. लेकिन उसे कुछ भी प्रतिसाद नही मिला. दुबार बुआई की गई सोयाबीन की फसल अच्छी हुई थी कि बेमौसम हुई बारीश ने इसे भी तबाह कर दिया. विदर्भ समेत संपूर्ण महाराष्ट्र में बारीश ने कहर किया है. साथही येलो मोजक नामक इल्लीयों ने सोयाबीन की फल्लीयों को नुकसान पहुचाया.

बारीश से कपास की फसल का भी नुकसान हुआ. संत्रा उत्पादक किसानों का भी नुकसान हुआ. इस स्थिति को ध्यान में लेकर सरकार राज्य में गीला अकाल घोषीत करें साथही नुकसान हुए फसल के लिए दिल्ली सरकार की तरह 50 हजार रु. प्रति हेक्‍टेयर मुआवजा घोषीत करें, खरीदी केंद्र शीघ्र शुरू करें.

जिन किसानों को कर्जमाफी का लाभ मिला नही उन्हे कर्जमाफी दे ऐसी मांगों का ज्ञापन मुख्यमंत्री को आर्णी तहसीलदार के माध्यम से भेजा गया. इस समय आम आदमी पार्टी आर्णी तालुका संयोजक वकील शेख, सचिव अशोक सकवान, महिला आघाडी की शानू राठोड, सदस्य रामा पवार, संतोष पवार, सुनिल पवार, सुधीर मानकर आदि उपस्थित थे.