नप की अनदेखी: डा. आंबेडकर की पुतले के सामने से जमता है ड्रेनेज का गंदा पानी

  • महामानव को अभिवादन के समय ध्यान में आयी समस्या

ढाणकी. शहर में डा. बाबासाहब आंबेडकर का पुतला होकर डा. बाबासाहब आंबेडकर स्मारक समिति ने नगर पंचायत को बार-बार शिकायतें देने के बावजूद भी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का ड्रेनेज का गंदे पानी के लिए नियोजन नहीं करने से डा. बाबासाहब आंबेडकर के प्रतिमा के सामने से यह गंदा पानी  बहने लगा है, इस गंभीर समस्या पर नगरपंचायत द्वारा अनदेखी की जा रही है, जिसका भीम सैनिक रोष प्रकट कर रहा है. 

शहर में एक नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण किया गया है और कर्मचारी क्वार्टरों से नाली में छोडा गंदा पानी बहता हुआ अब प्रभाग क्रं. 17 में सड़क पर बहता हुआ दिखाई दे रहा है. उन्होंने दो महीने पहले नगराध्यक्ष सुरेश जायसवाल को इस समस्या पर आश्वस्त किया था, तब नगराध्यक्ष ने आश्वासन दिया कि वह काम में तेजी लाएंगे. मुख्याधिकारी आकाश सुरडकर ने काम को जल्द से जल्द करने के लिए कर्मचारियों को दो महीने पहले बताया, फिर भी कर्मचारी बताए जाने पर भी नहीं सुनते हैं. ऐसा लगता है कि मुख्याधिकारी सुराडकर का कर्मचारियों पर कोई नियंत्रण नहीं है. ऐसा प्रतित हो रहा है.

डा. बाबासाहब आंबेडकर की पुतले के सामने से बहने वाले गंदे पानी को जल्द मोड दिया जाए व नगराध्यक्ष को बौद्ध समुदाय को नगरपंचायत के चुनाव में डा. बाबासाहब आंबेडकर के पुतले परीसर सौंदर्यीकरण व पुस्तकालय के वादे को पूरा किया जाए और इसका इसकी कृति प्रारूप बनाया जाए, नहीं तो भीमसैनिक आंदोलन करने की तैयारी में है. नगरपंचायत के मुख्याधिकारी आकाश सुरडकर इस पर क्या निर्णय लेते है? इस पर भी ग्रामीणों की नजर लगी हुई है.