आर्णी में इम्युनिटी क्लिनिक सेवा शुरू

आर्णी. नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन और महाराष्ट्र सरकार के सहयोग से कोरोना की पृष्ठभूमि पर कोविड-19 की दीवार से लोगों के डर और बीमारी को दूर करने के लिए राज्य भर में 940 आयुर्वेद प्रतिरक्षा क्लीनिक स्थापित किए गए हैं. 

उनमें से एक डा. संजय कुसारे के गुरुदेव आयुर्वेद क्लिनिक हैं, जो 22 वर्षों से आर्णी तालुका के नागरिकों की सेवा कर रहे हैं.ऐसा इसलिए है क्योंकि उन्होंने कोरोना जैसे घातक वायरस की बाढ में भी अपनी मरीजों की देखभाल जारी रखी. विगत कई वर्षों से विविध बिमारियों पर जैसे पुरानी सर्दी, श्वसन तकलीफ, अस्थमा, एसिडोसिस, विटिलोगो, बवासीर, नालव्रण, जीर्ण ज्वर, मूत्र पथ के संक्रमण, गठिया आदि विभिन्न रोगों पर सफलतापूर्वक इलाज किया गया है.

इसलिए, गुरुदेव चिकित्सालय को महाराष्ट्र सरकार के आयुष कार्य द्वारा एक आयुर्वेद प्रतिरक्षण क्लिनिक के रूप में प्रमाणित किया गया. इस क्लिनिक को लोगों को सेवा प्रदान के लिए हाल ही में उद‍्घाटन समारोह आयोजित किया गया था. कार्यक्रम की अध्यक्षता तहसील स्वास्थ्य अधिकारी डा. शाम शिंदे ने की. इस समय प्रमुख अतिथि के रूप में ग्रामीण अस्पताल के अधिक्षक डा. सुनिल भवरे, डा. राम पद‍्मावार, डा. शामसुंदर गुटे, डा. मनिष राठोड, डा. सुधिर शिंदे, डा. अरुण वाघ, डा. विनोद गंभीरे, डा. नितिन खडसींगे, डा. विलास लोलगे, उपस्थित थे. 

सफलतार्थ पंकज जयस्वाल, गुलाब राठोड, किशोर चव्हाण, यशवंत शास्त्रकार, अरुण भंडारी, विनोद पठाडे, पवन आक्कावार ने प्रयास किए. कार्यक्रम का संचालन डा. स्वाती शिंदे ने किया तो आभार डा. सविता कुसरे ने माना.