Thermal scanning probe in Collectorate

  • मरीजों को बाजार में आसानी से हो रहे उपलब्ध

वणी. कोविड के जिन मरीजों में लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं या बेहद कम लक्षण है. ऐसे मरीजों को होम आइसोलेशन की सलाह सरकार की ओर से दी जा रही है. ऐसे मरीजो की संख्या भी बढ़ने लगी है. ऐसे में घर पर ही शरीर का तापमान और आक्सीजन का लेवल जांचने के लिए थर्मल स्कैनर इन्फ्रारेड टेम्परेचर गन और पल्स आक्सीमीटर की मांग तेजी से बढ़ने लगी है. कोविड के पहले बड़ी मुश्किल से 1 से 2 की संख्या मे बेचे जाने वाले आक्सीमीटर अब 40 के करीब बेचे जा रहे हैं.

स्वास्थ को लेकर बढ़ी जागरूकता की वजह से इन दोनों ही उपकरणों की बिक्री में वृध्दि होने की बात विक्रेता कर रहे हैं. कोविड संक्रमित के साथ ही आम लोग भी अपने स्वास्थ्य की घर पर रोजाना जांच के लिए इन उपकरणों को खरीदने लगे हैं. हालांकि विक्रेताओं का कहना है कि फिलहाल थर्मल स्कैनर की बिक्री कम हो गई है. लेकिन आक्सीमीटर की बिक्री दस गुना अधिक होने लगी है. कई लोग तो अपनी जेब में ही आक्सीमीटर लेकर चलते नजर आने लगे है. यह नए उपकरण अब जीवन का अंग बनते जा रहे हैं.

गरीब व मध्यम वर्ग की पहुंच से दूर

विक्रेता कहते है कि अप्रैल और मई माह के दौरान थर्मल स्कैनर की मांग बहुत बढ़ गई थी. मार्केट में कमी के चलते इस उपकरण की कीमत 8 हजार तक पहुंच गई थी. अब ये आसानी से 1000 से 1400 रुपए में उपलब्ध है. इसी तरह आक्सीमीटर 500 से 2,500 रुपए में आसानी से उपलब्ध हो रहे हैं. मांग से ज्यादा स्टाक होने से भी ये सस्ते मिल रहे हैं. उल्लेखनीय है कि ये दोनों ही उपकरण फार्मा और नॉन फार्मा दूकानों में उपलब्ध होने से लोग आसानी से खरीद पा रहे है. हालांकि गरीब व मध्यम वर्ग की पहुंच से अब भी यह दूर है, क्योंकि उनके लिए 1 हजार रुपए भी खर्च कर पाना संभव नहीं है.

जागरूकता की वजह से मांग बढ़ी

कोविड का संक्रमण बढ़ने के बाद से ही लोगों में अपने स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता भी आई है. खास कर होम आइसोलेशन में जो मरीज रह रहे हैं, वे अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी जागरूक नजर आ रहे है. इसलिए पल्स आक्सीमीटर ज्यादा एवं कम पैमाने पर थर्मल स्कैनर खरीदे जा रहे हैं.

– अजय मुणोत, संचालक-अजय मेडिकल.