Nirikshan

  • व्यापारियों, कामगारों को कोरोना का परीक्षण अनिवार्य
  • पांच दुकानदारों से वसूला जुर्माना

यवतमाल. व्यापारियों सहित श्रमिकों के लिए कोरोना परीक्षण अनिवार्य कर दिया गया है, और प्रशासन ने शहर के व्यापारियों ने जांच की है या नहीं, इसकी एक क्रॉस परीक्षा शुरू हो गई है. शुक्रवार, 26 मार्च को राजस्व, नगरपालिका और पुलिस विभागों ने एक संयुक्त अभियान चलाया और दुकानों का निरीक्षण किया. पांच दुकानदारों पर जुर्माना भी लगाया गया.

शहर में कोरोना का प्रचलन दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. नागरिकों को प्रशासन द्वारा समय-समय पर उपाय करने के निर्देश दिए जा रहे हैं. बढ़ते प्रचलन के मद्देनजर, जिला कलेक्टर ने सभी व्यापारियों और स्थानीय श्रमिकों के लिए परीक्षण करना अनिवार्य कर दिया है. तहसील प्रशासन द्वारा निरीक्षण के लिए प्रतिदिन शहर में शिविर लगाए जा रहे हैं. अब एक जांच शुरू की गई है कि क्या व्यापारियों ने ऐसा किया. प्रशासन ने शहर के मुख्य बाजार में दुकान का निरीक्षण किया. उस समय भीड़ वाली पांच दुकानों पर सामाजिक दूरी का भंग होने से जुर्माना लगाया गया था.

कोरोना के चरणबद्ध निरीक्षण की मांग

प्रशासन ने व्यापारियों सहित कर्मचारियों के लिए कोरोना परीक्षण करना अनिवार्य कर दिया है. इसे देखते हुए, विभिन्न स्थानों पर निरीक्षण केंद्र स्थापित किए गए थे. इस भीड़ से संक्रमण बढ़ने की संभावना है. इसलिए, व्यापारियों की मांग है कि जांच चरणों में की जानी चाहिए.

प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करने की आवश्यकता है

कोरोना के बढ़ते प्रचलन को देखते हुए नागरिकों को मास्क पहनना आवश्यक है. लेकिन कई नागरिकों को बिना मास्क के घूमते देखा जाता है. नागरिक प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना आवश्यक है. इसे सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए. प्रशासन भीड़ से बचने की अपील कर रहा है. राजस्व, नगरपालिका और पुलिस विभाग द्वारा शहर के मुख्य बाजार की दुकानों का संयुक्त रूप से निरीक्षण किया गया.