yavatmal

झरी जामणी तहसील के मुकूटबन में  राजराजेश्वर मंदिर से कॉटन मार्केट तक मार्ग का टूलेन, रोड डिवाइडर और दोनो बाजू में नाली निर्माण का कार्य करना था. लेकिन शारदा कन्स्ट्रक्शन नांदेड कंपनी ने डिवाइडर नही बनाया गया.  इस काम के लिए छोडी गई जगह यहा दुर्घटनाओं को न्योता दे रही है. रुईकोट से हीवरदरा मार्ग का 9 किमी निर्माण के लिए लगभग 20 करोड रू. 2015 में शारदा कन्स्ट्रक्शन नांदेड कंपनी को दिया गया था.

कंपनी ने यी रा्रसजा 2018 तक तयार किया. इसके बाद यह काम बढाकर मुकूटबन के राजराजेश्वर मंदिर से कॉटन मार्केट तक करना था.  इसके लिए कंपनी ने रास्ते के बीचोबीच एक मीटर की नाली के लिए जगह छोड बाजे में सात मीटर का डांमरीकरण क रास्ता तयार किया. इसी मार्ग पर रोड डिवायडर तय करना था. इस पर एलईडी लाईट के लिए बीजली पोल लगाने थे. लेकिन कंपनी ने यह काम पुरा  नही किया. 2018 से यह काम बंद है.

नाली के लिए छोड गई जगह पर बरसात का पानी जमा हो रहा है. इस नाली में गिरने से कई लोग घायल हुए है. इस मार्ग से वाहनों की याताात 24 घंटे शुरू रहती है. यहा होनेवाली दुर्घटनाओं की संभावना को देख यह नाली बुझाई जाए ऐसी मांग पवन सोमावार ने विधायक संजीवरेडी बोदकुरवार, सांसद धानोरकर, मुख्यमंत्री, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, सार्वजनिक बांधकाम विभाग पांढरकवडा, तहसीलदार झरी जामणी को ई मेल द्वारा भेजे गए ज्ञापन में की है.