‘जिवाला’ संस्था यूथ आइकॉन अवार्ड से सम्मानित, उल्लेखनीय कार्य करने पर किया पुरस्कृत

    उमरखेड़. जिव्हाला संस्था को यूथ आइकॉन अवॉर्ड से नवाजा गया है. इंटरनेशनल आइकन अवार्ड प्राप्त जिव्हाला बहुउद्देशीय संस्था उमरखेड जिला राज्य सामाजिक कार्यों में हमेशा आगे रहने वाली इस संस्था को सामाजिक क्षेत्र में गत 10 सालों में महाराष्ट्र के  यवतमाल, हिंगोली, नांदेड़, वाशिम और वर्धा जिलों में ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों सक्षमीकरण के माध्यम से महिला एवं बाल विकास, स्वागत महिला जन्म, स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यावरण, उपजीविका, जैव विविधता, कृषि और ग्रामीण विकास, मानवाधिकार, बाल अधिकार, बेरोजगारी, सिंचाई, कीचड़ मुक्त बांध, कीचड़ से भरपूर शिवर आदि सरकार की महत्वपूर्ण अभियान के माध्यम से उमरखेड तहसील के सात झीलों से गाद निकालकर किसानों को नि:शुल्क वितरित किया गया.

    खुदाई की बदौलत सैकड़ों लीटर पानी जमा हो चुका है. संगठन ने सूखे पर काबू पाने में बड़ी कामियाबी हासिल की है. जिले में इस अभियान में उनकी कड़ी मेहनत के कारण जिव्हाला संस्था प्रथम पुरस्कार की मानक धारक बन गई है. राष्ट्रीय मानव कल्याण परिषद दिल्ली और युवाभाग्य फूड्स प्रोड्यूसर कंपनी ने संयुक्त रूप से बाबूराव धनवटे हॉल, नागपुर में प्रतिष्ठित राष्ट्रीय सम्मान समारोह का आयोजन किया.

    पंजाब आटी सेल उपाध्यक्ष प्रतिक आलूवालिया, सुप्रसिद्ध अध्यक्ष अभा मराठी नाट्य परीक्षण के नरेश गडेकर, शीला सांभारे, नेशनल ह्युमन वेलफेअर कौन्सिल दिल्ली के चेअरमन गुंजन मेहेता, युवाभाग्य फूड्स प्रोड्यूसर कंपनी के चेअरमन युवराज ठाकरे, राज्य अध्यक्ष संजीव शर्मा आदि के हाथों अध्यक्ष अतुल राम मादावार को स्वर्ण पदक, प्रशस्तीपत्र व सम्मानचिन्ह देकर गौरान्वित किया गया.

    यह सम्मान बढ़ाता है आत्मविश्वास

    प्रेरक लोगों का संग, उनकी तारीफों की तालियां, उन्हें अपने शब्दों से लड़ने और जीने की जो दिशा मिलती है, वह उनकी ऊर्जा को बढ़ा देगी..! यह सम्मान आत्मविश्वास और आत्म-सम्मान को बढ़ाता है. 

    अतुल लता राम मादावार, अध्यक्ष, जिव्हाला संस्था.