उमरखेड में खरीफ की फसल तबाह, कपास, सोयाबीन को क्षति

उमरखेड. विगत दो दिनों से वापसी की बारिश से किसानों के हाथ में आनेवाली खरीफ की फसल तबाह हो गई. फिर एक बार वापसी की बारिश ने कहर बरपाते हुए किसानों को हताश कर दिया है. मौसम विभाग द्वारा अनुमान से किसानों में खलबली मच गई है. 

इस बारिश से कई खेत जलमय हो गए, जिससे सोयाबीन, कपास, सब्जी की फसल को भारी क्षति पहुंची है.  तहसील में 35 हजार किसान होकर 31 हजार 100 हेक्टेयर पर सोयाबीन की बुआई की थी. इनमें से 50 फीसदी सोयाबीन लिया गया. नदी-नालों के तटवर्ती क्षेत्र में आनेवाले बाढ से खेत जलमग्न हो गए, जिससे खरीफ की समूची फसल तबाह हो गई. जिससे अब जल्द से जल्द नुकसान का सर्वेक्षण कर क्षति का मुआवजा, बीमे की भरपाई देने की गुहार सरकार से लगाई है.