Customer upset due to beer bar being closed, sealed sale
File Photo

    यवतमाल. शहर के जिलाधिकारी ने लाकडाउन की घोषणा की है. बावजूद भी शहर के बीच बस्ती में स्थित वाघापुर की एक किराना दूकान में देशी शराब की बिक्री की जानकारी पुलिस को मिली. करीब गुन्हा अन्वेषण विभाग के समूह ने किराना दूकान पर छापा मारकर खुलेआम बेचने वाले किराना दूकान मालिक को कब्जे में लिया गया.

    शहर के बीच बस्ती में स्थित वाघापुर स्थान पर गए कुछ दिनों से किराना दूकान में अवैध तरीके से शराब विक्री होने की जानकारी मिली थी. पुलिस को इस बारे में गोपनीय रूप से सूचित किया और स्थानीय जांच विभाग की टीम ने छापा मारा कर शराब जब्त की.

    दूकान मालिक हिरासत में

    पुलिस को कुछ दिनों से यवतमाल में बड़ी संख्या में अवैध शराब की दूकानों के बारे में पता था, किंतु आज तक पैदल चलने वालों के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया था. इस मामले में किराना दूकान मालिक को शराब के माल समेत कब्जे में लिया है. 

    -डा. दिलीप भुजबल, पुलिस अधीक्षक

    शहर में अवैध रूप से बिकने वाली शराब की दूकान पर छापा बहुत उचित है. आम आदमी एक जीवन-मृत्यु है. अगर इस तरह से चल रहा है, तो यह प्रकार उपयुक्त नहीं है. पुलिस बहुत उपयुक्त है.

    -राजू पडगीलवार, सामाजिक कार्यकर्ता यवतमाल

    क्षेत्र में चल रही अवैध शराब बरामदगी को लेकर नागरिकों में काफी संतुष्टि है. इस शराब की दूकान पर पुलिस का छापा नागरिकों के जीवन को नष्ट कर रहा है, पुलिस को शहरों में अवैध शराब की दूकानों पर भी छापा मारना चाहिए. उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए.

    -सचिव मनवर संभाजी ब्रिगेड यवतमाल

    हम महिलाएं, पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे हैं. जिले में शराब बंदी केवल नाम की है. औसतन शराब विक्रेता शराब के नाम पर लाखों रुपये कमा रहे हैं. हमने बार-बार मांग की है कि सरकार और प्रशासन इस पर तत्काल ध्यान दें.

    -उमेश मेश्राम, दारूबंदी आंदोलन यवतमाल