Minor girl strangled to death, fear of rape

दिग्रस. तहसील के साखरा की कक्षा 12 वीं में अध्ययनरत एक लडकी पर अपने रिश्तेनातेवालों के यहां मेहमान बनकर आए लडकी से जान पहचान होने के पश्चात लडकी को शादी का लालच दिखाकर घर से भागकर ले गया और विधिसंघर्ष बालक ने लडकी का शोषण करने का मामला दिग्रस पुलिस थाने में पीडिता ने दी शिकायत पर उजागर हुआ है. पुलिस ने आरोपी विधि संघर्ष बालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

साखरा निवासी एक लडकी का पडोस में आए रिश्तेनातेवालों के घर गणेश उत्सव के दौरान दिग्रस तहसील के नांदगाव में एक विधि संघर्ष लडका मेहमान बनकर आया था. उसकी पीडिता लडकी साथ जान पहचान हुई और दोनों में प्यार हो गया. इस दौरान 11 सितंबर 2020 को 11.30 बजे के दौरान विधि संघर्ष बालक ने मोटरसाइकिल लेकर आया और लडकी को शादी करने का लालच दिखाकर भगाकर ले गया. वहां से पुसद पहुचे और दोनों शिक्रापुर पुणे के लिए निकल पडे.

जहां किराये के रूम में रहने लगे. विधिसंघर्ष बालक ने कुछ दिनों पश्चात कंपनी से घर लौटते समय शराब पिना शुरू कर दिया और घर आकर लडकी की पिटाई करता था. इस बीच 15 दिसंबर 2020 को वह किराणा लाने के बाहर निकलने के पश्चात मौका देखकर लडकी ने अपने जीजा को फोन पर से आपबीती बताई. इस मामले में दिग्रस पुलिस थाने में पीडिता ने शिकायत दी है. जिसपर से विधि संघर्ष बालक आगे की जांच पुलिस निरीक्षक सोनाजी आमले, पुलिस उपनिरीक्षक श्रीकांत कडू, सहायक पुलिस उपनिरीक्षक शशिकिरण नावकार, पुलिस कर्मी संदीप ढेंगे कर रहें है.