रविवार से नंदीग्राम एक्सप्रेस शुरू, वणी तक नही आएगी

  • रेल प्रशासन का तुगलकी फरमान

वणी. वणीधीरे- धीरे रेल सेवाएं सामान्य हो रही है . दशहरा और दिवाली के मद्देनजर रेलवे द्वारा ट्रेनों को शुरू किया जा रहा है . लगभग 6 माह बाद रेलवे ने नंदीग्राम एक्सप्रेस को शुरू करने का निर्णय लिया है . लेकिन यह ट्रेन वणी या नागपुर नहीं जाएगी , बल्कि नांदेड़ तक ही जाएगी . रेल्वे के इस निर्णय से स्थानीय यात्रियो मे रोष है. 

01141 मुंबई – नांदेड स्पेशल एक्सप्रेस रविवार को शाम 16.35 बजे छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से छूटी जो दूसरे दिन सुबह 5.30 बजे नांदेड पहुंची. सोमवार को नांदेड से शाम 5 बजे 01142 नंदीग्राम स्पेशल एक्सप्रेस मुंबई के लीये रवाना हुई. मालुम हो की वणी से नंदीग्राम एक्सप्रेस एकमात्र ट्रेन है जो मुंबई जाती है. वणी से जानेवाली पुर्णा पटना, दीक्षाभूमी, ताडोबा एवं संतराघाची एक्सप्रेस भी अबतक शुस् न होने से यात्री परेशान है.

नंदीग्राम को चालु करके नांदेड तक ही चलाने के रेल्वे प्रशासन के इस फैसले को शिवसेना नेता दीपक कोकास ने अन्यायपूर्श बताते हुए कहा की रेलवे प्रशासन की ओर से महीनो बाद अब ट्रेने चलाने की जो घोषणा हो रही है, इससे पता चलता है कम दूरी की व छोटे स्टेशनो के यात्रियों के लिए उपयोगी ट्रेनो को चलाने उसकी कोई दिलचस्पी नही है. उसे लेकर उन यात्रियो मे व्याप्त असंतोष निरंतर गहरे रोष मे परिवर्तित हो रहा है.

नंदीग्राम की बुकिंग शुरू हो गई है. इस गाड़ी मे भी बिना आरक्षण के यात्रा नहीं की जा सकेगी. जनरल कोच के लिए भी आरक्षण कराना होगा. मध्य रेलवे जोन मे वणी की एक विशिष्ट पहचान है. नागपुर मंडल मे कोयला ढुलाई मे करोडो का राजस्व अर्जित करने वाले स्टेशन के रूप मे भी वणी का  समावेश है. 

ट्रेन यात्रा करने वाले की फजीहत 

वणी से होकर पाच ट्रेने चलती है . इन ट्रेनों का लाभ शहर के अलावा आसपास के गाँव  के लोगों को भी होता है . इन ट्रेनो के शुरू नहीं होने से लोगो को परेशानी झेलनी पड़ रही है . जब बस एवं हवाई सेवा शर्तो के साथ शुरू हो सकती है तो फीर ट्रेनो को चालु न करने का रेल्वे प्रशासन को फैसला समष से परे है. जनप्रतिनिधियो को चाहिये की वह इस अन्याय के खिलाफ आवाज बुलंद करे.