नप प्रशासन के आर्शीवाद से सर्विस लाइन में बढते अतिक्रमण पर नगरपालीका की उपेक्षा

  • कार्रवाई के मुख्याधिकारी से की शिकायत

पुसद. पुसद नगर परिषद अंतर्गत अग्रवाल ले आऊट शिवाजी चौक में एक चिकित्सक के मकान के पीछे से विहार गेट हाउस के पीछे तक सरकारी आरक्षित सर्विस लाइन बंद कर अतिक्रमण कर सरकारी जमीन हडपने का प्रयास किया जा रहा है, नगर परिषद इस पर ध्यान नहीं दे रही है. हालांकि अतिक्रमण अभियान के निरीक्षक ने यह सब देखा है, फिर अनदेखी कर रहा है. नगर परिषद के लाखों रुपए की जमीन पर अतिक्रमण कर रही है, जिससे नगर परिषद को नुकसान हो रहा है. भले ही नगर परिषद की जिम्मेदारी हो कि वह नगरपालिका परिषद के अधिकार क्षेत्र में किसी भी स्थान पर अतिक्रमण के मामले में कार्रवाई करे या सरकारी सड़क को बाधित करे, जिम्मेदार अधिकारी मौन है. जैसा कि नगरपालिका कार्रवाई करने और अतिक्रमण को हटाने में असमर्थ है, सामाजिक कार्यकर्ता ने नगरपालिका परिषद क्षेत्र में सेवा लाइन में अतिक्रमण की शिकायत दर्ज की है.

अतिक्रमण को तत्काल हटाने और दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की जाए, कार्रवाई न होने पर आमरण अनशन करने की चेतावनी सामाजिक कार्यकर्ता व शिकायतकर्ता अब्दुल हमीद शेख ने मुख्याधिकारी नगर परिषद पुसद तथा आयुक्त नगर परिषद प्रशासन मुंबई, विभागीय आयुक्त अमरावती, जिलाधिकारी यवतमाल तथा उपविभागीय अधिकारी पुसद ज्ञापन से दी है.

पुसद नगर परिषद के कार्यक्षेत्र के कई लेआऊट में सर्विस लाइन में अमीरों के अवैध अतिक्रमण किया है और मुख्याधिकारी और अतिक्रमण निरीक्षक शिकायतों पर चुप हैं. इसके अलावा यदि नगर परिषद या सरकारी जमीन पर कोई अतिक्रमण कर जबरन कब्जा करता है तो किसी शिकायत के बिना नप प्रशासन  के पास सीधे कार्रवाई करके अतिक्रमण की सामग्री जब्त कर फौजदारी करने का अधिकार रखते है. हालांकि, ऐसा लगता है कि ये अधिकारी किसी सामाजिक कार्यकर्ता की शिकायत मिलने के बाद अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई को टाल रहें है. ऐसा शिकायतकर्ता अ. हमीद शेख, तहसीलध्यक्ष अन्याय अत्याचार भ्रष्टाचार विरोधी समिति पुसद जिला यवतमाल ने कहा है.