yavatmal

आर्णी. आर्णी तहसील के लोणी निवासी सीताराम उद्रांजी हिवराले का विवाह आर्णी तहसील के लोणी की निर्मला सूर्यभान इंगोले के साथ वर्ष 16 नवंबर 1955 को हुआ था. उस समय सीताराम की उम्र महज 12 वर्ष तो निर्मला की उम्र सात बरस थी. पुराने जमाने में बचपन में शादियां होती थी, अब इन दोनों को यह भी याद नहीं है कि बचपन में शादी कैसे हुई थी. जिससे इनके बच्चों ने याद ताजा कराने के लिए माता-पिता के शादी की 65 वीं वर्षगांठ ही शादी समारोह के रूप में मनाई.

कराई यादें ताजा:

सीताराम हिवराले और निर्मला हिवराले के तीन बच्चे हैं. बडी बेटी तुलजाबाई मधूकर जोगदंड निवासी सायखेडा तहसील दारव्हा, दूसरा बेटा पुंडलिक सिताराम हिवराले तो तिसरे नंबर का बेटा पंडीत सिताराम हिवराले है. बडा बेटा पुंडलिक हिवराले यह किसान तो छोटा बेटा ग्रामसेवक है. अपने माता-पिता की सेवा ही ईश्वरसेवा माननेवाले हिवराले परिवार ने अपने माता-पिता की शादी बचपन में होने की वजह से शादी समारोह की खुशियां कैसी होती है, इसकी याद ताजा कराई. अब पिता सीताराम हिवराले (85) और माता (72) बरस की हो गई है.

वृद्ध माता-पिता के शादी की 65 वीं वर्षगांठ को ही शादी समारोह के रूप में मनाया गया. वृद्ध माता-पिता की शादी में बडे बेटे दूल्हे के पिता तो छोटे बेटे ने माता के पिता की भूमिका निभाई. इस विवाह समारोह की पत्रिकाएं भी छपवाई थी.  शादी के कार्यक्रम में 15 को हल्दी, 16 नवंबर की सुबह 11.30 शादी समारोह आर्णी के राधाकृष्ण नगरी में पंडित हिवराले के निवासस्थान सभी रितिरिवाजों के संपन्न हुआ. इस समय परिवार के सदस्य उपस्थित थे.