किसानों को हुए नुकसान के पंचनामे कर वित्तिय सहायता प्रदान करें

  • डोंगरखर्डा व मेटीखेडा के सभी किसानों ने सौंपा ज्ञापन

मोहदा. सितंबर महिने में लगातार बारिश की वजह से सोयाबीन की फली अंकुरित तो कपास के बोंड सडकर गल गए है. जिससे किसानों को हुए नुकसान के जल्द पंचनामे कर किसानों को वित्तिय सहायता प्रदान करने की मांग का ज्ञापन डोंगरखर्डा व मेटीखेडा परिसर सभी किसानों ने सौंपा. राजस्व मंडल मेटीखेडा व डोंगरखर्डा क्षेत्र के सोयाबीन, कपास की फसल लगातार बारिश से नुकसाग्रस्त हुई है. 

लगातार बारिश से सोयाबीन की फली अंकुरित हुई तो कपास के बोंड काले पडकर सड कर गल गए है. कपास पर बोंड इल्ली का प्रकोप होने की संभावना बढ गई है. जिससे प्रशासन इस ओर गंभीरता से ध्यान देकर फसलों का निरीक्षण कर वित्तिय जांच कर नुकसानग्रस्त किसानों के फसलों के पंचनामा कर नुकसान भरपाई देने की मांग 29 सितंबर को अप्पर तहसीलदार मनोहर मेश्राम को सौंपे ज्ञापन से की है. ज्ञापन सौंपते समय सुदाम पवार, नामदेव लाखडे, दिलीप नागापुरे, विठ्ठल राऊत, सुरेश नागपुरे, शेख रफीख,  सुभाष राठोड, संगीत  राठोड विलास पवार आकाश लाखडे, शोभा भोयर आदि समेत बडी संख्या में किसान उपस्थित थे.