Collector's decision from Janata curfew, community spread on 11, 12 July

वणी. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सर्वपक्षीय नेताओं एवं सामाजिक संगठनों ने सोमवार से शुक्रवार तक जनता कर्फ्यू की घोषणा की थी, जिसका व्यापक असर शहर में देखा गया. वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से शहर के लोग सोमवार को पूरे दिन अपने अपने घरों में जमे रहे. शहर की सभी सड़कें, गलियां एवं चौक चौराहे पूरी तरह से वीरान नजर आई.

वहीं सभी छोटी बड़ी दूकानें, प्रतिष्ठान, बाजार  शत प्रतिशत बंद रहे. शहर की गलियों में स्थित लोगों की मूलभूत सामानों को उपलब्ध कराने वाली दूकानें भी जनता कर्फ्यू के दौरान बंद पाई गई. चारों तरफ सन्नाटा हीं सन्नाटा पसरा रहा. 

वाइन शॉप खुले
शहरवासियों ने पूरे विश्व पर आए इस खतरे की गंभीरता को देखते हुए जनता कर्फ्यू का भरपूर समर्थन किया. हालांकि इस दौरान इक्के दुक्के लोगों को सड़कों पर घूमते देखा गया. फल एवं सब्जी की इक्का दुक्का दूकाने चालू दिखी. इस दौरान मेडिकल एवं कृषि केंद्र सुबह 3 घंटे शुरू रहे. फल विक्रेताओं ने मंगलवार से अपनी दूकाने खोलने का फैसला लिया है.

जबकी वाइन शॉप एवं कुछ बार भी खुले रहे. लिहाजा लोगों को संकल्पित होकर सावधानी एवं सतर्कता के साथ सामंजस्य बिठाते हुए इससे लड़ना होगा. तब जाकर पूरी मानव जाति के ऊपर मंडरा रहे इस बड़े खतरे को टाला जा सकता है.