टेंभुर्णी की जि.प. शाला में ऑनलाइन सुविधा नहीं, फिर भी बच्चों को कर रहे पढाई

  • उपक्रमशिल शिक्षक दिनेश डाहाके के उपक्रम की हो रही सराहना

यवतमाल. शहर के समीप जिला परिषद प्राथमिक शाला टेंभुर्णी केंद्र कापरा में उपक्रमशील शिक्षक दिनेश डाहाके ने दैनिक अभ्यासमाला यह उपक्रम शुरू किया है. इस उपक्रम के माध्यम से छात्र शिक्षा ले रहे है. कोरोना महामारी की वजह से मार्च माह से शाला बंद है. सरकारी आदेश नुसार सभी छात्रों को अगली कक्षा में प्रवेश दिया गया. महामारी का संकट बढने से 26 जून से शुरू होनेवाला नया सत्र 2020-21 इस शैक्षणिक सत्र की शुरूवात ऑनलाईन शिक्षा से की गई. पंचायत समिति यवतमाल अंतर्गत आनेवाले कापरा केंद्र के टेंभुर्णी यह गाव घने  जंगल से घीरा है.

यहा मोबाईल नेटवर्क नही, जिससे ऑनलाईन शिक्षा तो दुर ही है. लेकिन ऑफलाईन शिक्षा से छात्रों को कोई नही  रोक पाया. तब  दिनेश डाहाके को दैनिक अभ्यासमाला यह तरकीब सुझी.  उन्होने हर कक्षा का पुर्ण पाठ्यक्रम तयार कर उसकी प्रिंटेड प्रत हर छात्र को दी. शाला बंद है लेकिन बच्चों को पूर्ण माह का पाठ्यक्रम मिलने से छात्र भी खुशी से पढाई करने लगे. अभ्यासमाला यह संकल्पना भी को  पसंद आयी. तारीख नुसार पाठ्यक्रम होने से बच्चे रोज पढाई करने लगे. कोई दिक्कत आयी तो डाहाके सर को फोन करते है. अभिभावक भी बच्चों की पढाई की ओर ध्यान दे रहे है. ‘दैनिक अभ्यासमाला’ यह उपक्रम छात्रों के लिए अध्ययन दूत बना है. इस उपक्रम के लिए शालेय व्यवस्थापन समिति के अध्यक्ष दिलीप राठोड तथा अध्यापक लंकेश्वर भगत ने सहयोग किया.