yavatmal

मारेगाव. केंद्र सरकार ने पारित किया किसान विरोधी कृषि बील वापस ले इस मांग का ज्ञापन  भारतीय कम्युनिस्ट पक्ष की ओर से तहसीलदार के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा गया. केंद्र सरकार के कृषि विरोधी नितियों के विरोध में यह आंदोलन किया गया.

किसान विरोधी अध्यादेश रद्द करे, स्वामीनाथन आयोग लागू करे,भूमिअधिग्रह कानुन नुसार कार्पोरेट कंपनीयों को खेत जमीन देना,वनअधिनियम 2005 के कानुन का पालन करें, वनों में रहनेवाले खेतमजदुरों को जमिन  पट्टे दे आदी मांगे इस समय की गई. इस समय भारतीय कम्युनिस्ट पक्ष ने मारेगाव बंद की हाक दी थी.

इस बंद को अंशत: सफलता मिली. मोर्चा निकलने तक दुकाने बंद की गई. बाद में मार्केट सुचारू था. इस समय बंडू गोलर, प्रदीप नगराले ,डा.श्रीकांत तांबेकर, लता रामटेके , पुंडलिक ढुमणे आदि उपस्थित थे.