rainfall

यवतमाल. जिले में गत 15 दिनों में 102 मिमी बारिश दर्ज की गई है. बुआई योग्य बारिश होने से आधे से अधिक क्षेत्र में किसानों ने बुआई कार्य भी निपटा लिए हैं. साथ ही खाद, बीज एवं अन्य सामग्री के लिए कृषि सेवा केंद्रों पर भीड़ उमड़ रही है. जिले में रोहिणी नक्षत्र से बारिश शुरू है. 15 जून तक संपूर्ण जिले में औसतन 102 मिमी बारिश हुई. यह बारिश बुआई के लिए लाभदायक है. इसके साथ ही जिले में बुआई कार्यों ने गति पकड़ी. जिले में आधे से अधिक क्षेत्र पर बुआई कार्य निपट गए हैं.

सर्वाधिक क्षेत्र कपास का
जिसमें सर्वाधिक क्षेत्र कपास का है, वही शेष क्षेत्र पर सोयाबीन, तुअर, ज्वार, मूंग एवं उड़द की बुआई पूरी होने की जानकारी कृषि विभाग ने दी. जिले में गत 15 दिनों में 87 मिमी बारिश होना अपेक्षित था. प्रत्यक्ष में 102 मिमी बारिश हुई, 24 घंटों में औसतन 20.81 मिमी बारिश दर्ज की गई. 

घाटंजी में सर्वाधिक
अब तक सर्वाधिक बारिश घाटंजी तहसील में 134 मिमी दर्ज की गई. यवतमाल में अब तक 94 मिमी बारिश दर्ज हुई. वहीं बाभुलगांव में 100 मिमी , कलंब में 105 मिमी, दारव्हा 84 मिमी, दग्रिस में 91 मिमी,आर्णी में 108 मिमी, नेर में 138 मिमी, पुसद में 108मिमी,उमरखेड़ में 81 मिमी , महागांव में 101 मिमी , वणी में 101 मिमी , मारेगांव 75 मिमी झरी में 110 मिमी, केलापुर में 118 मिमी तथा रालेगांव में 82 मिमी बारिश दर्ज हुई.