सफलता की कुंजी सही निर्णय लेना है-एड सबीना क्रैस्टो

  • 'म्यूट कोर्ट टू कोर्ट' पर वेबिनार,अमोलकचंद लॉ कॉलेज की पहल

यवतमाल. ‘वर्तमान में, वकालत के क्षेत्र में नए-नए अवसर उपलब्ध हैं. इस क्षेत्र में सम्मिलित होनेवाले प्रत्येकों ने सफल होने के लिए एक बार लिया हुआ कोई भी निर्णय प्रयासों पराकाष्ठा से सार्थ हो सकती है, यही अपने सफलता की कुंजी है. ऐसा प्रतिपादन राइटस एन्ड राइटस इस विधि क्षेत्र के एक प्रतिष्ठित कंपनी के निदेशक तथा मुंबई उच्च न्यायालय के अधिवक्ता एड. सबीना क्रैस्टो ने यवतमाल के अमोलकचंद लॉ कॉलेज की ओर से आयोजित व्याख्यानमाला में ने ‘म्यूट कोर्ट टू कोर्ट’ विषय पर कानून के छात्रों का मार्गदर्शन किया.

इस समय डा. सुप्रभा यादगीरवार, प्रिंसिपल अमोलकचंद लॉ कॉलेज. उन्होंने अपने मार्गदर्शन से उपस्थित विद्यार्थियों को मुट कोर्ट व न्यायापालिका के विभिन्न महत्वपूर्ण मुद्दों पर प्रकाश डालते हुए छात्रों को गहराई से मार्गदर्शन दिया.

कार्यक्रम का संचालन प्रा. डा. विजेश मुनोत ने अतिथियों का परिचय कराया. डा. संदीप नागराले द्वारा किया गया. छात्र प्रतिनिधि निखिल सायरे ने आभार ने माना. इस वेबिनार में बड़ी संख्या में प्रोफेसर और अमोलकचंद लॉ कॉलेज के छात्र उपस्थित थे.