Smuggling of sand is happening at night from the drainage of Jharan forest
File Photo

  • सिर्फ ट्रैक्टर पर होती है कार्रवाई, अब अन्य वाहनों से हो रही ढुलाई

मारेगांव. मारेगांव तहसील में होने वाली रेत तस्करी पर स्थानीय प्रशासन ने अंकुश लगाया है. पिछले दिनों 5 ट्रैक्टर पर कार्रवाई की गई थी. जिसके चलते रेत तस्करों में हड़कंप मच गया था. परंतु अब दूसरे जिलों से मारेगांव तहसील में होने वाली रेत तस्करी पर स्थानीय प्रशासन लगाम कसने में असमर्थ दिखाई दे रही है.

मारेगांव शहर सहित तहसील में रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए रेत तस्कर ट्रैक्टर छोड़कर मैक्स बोलेरो, भारी वाहनों में वरोरा-चंद्रपुर-बल्लारशाह-मूल जैसे दूर-दराज के शहरों से रेत की तस्करी जोरों पर चल रही है.रेत तस्करी का यह खेल सिर्फ रात में एजंटों के भरोसे चलने की बात सामने आई है. जिसमे लाल, पीली, काली सभी क्वॉलिटी की रेत यह एजंट मुहैय्या करा देते है. परंतु तहसील में यह रेत तस्करी का व्यापार किसके बलबूते पर चल रहा यह बात बंद गुलदस्ते में है. 

ट्रैक्टर के अलावा बोलेरो पिकअप जैसे तेज दौड़ने वाले वाहन भारी मात्रा में रेत की ढुलाई करते नजर आ रहे हैं. फिर भी स्थानीय प्रशासन इन वाहनों को क्यों नही पकड़ पाता, इसको लेकर चर्चा शहर में चल रही है.  इन तस्करों की वजह से जरूरतमंद लोगों को रेत नहीं मिल पा रही है, और जो रेत मिल रही है उसके दाम सुनकर ही लोग उसे खरीदने की हिम्मत नहीं कर पाते़ ऐसे में रेत तस्करी और तस्करों पर अंकुश लगाने के साथ कार्रवाई करने की मांग आम नागरिक कर रहे है.