वणी के अभिनव इंगोले ने प्राप्त की UPSC में सफलता

वणी. इंसान ने कोई बात मन में ठान ली तो वह जिद्द और मेहनत से उसे प्राप्त करता है.  नोकरी कर युपीएससी की  तयारी करनेवाले वणी के अभिनव प्रवीण इंगोले ने यह साबित कर दिखाया. पिता अध्यापक होने से अभिनव के घर में प्रारंभ से ही शैक्षणिक वातावरण था. बडा अधिकारी बनने की जिद्द उसके मन में थी. प्राथमिक शिक्षा  वणी के  विवेकानंद विद्यालय से पूर्ण करने के बाद कक्षा 10वीं में मेधावी सूचि में अभिनव चमका.

मराठी इस विषय में महाराष्ट्र से सर्वाधिक अंक प्राप्त करने से ग. दि. माडगुलकर पुरस्कार  उसने प्राप्त किया था. 12वीं के बाद सांगली से  इंजिनिअरिंग पदवी प्राप्त की. उसने युपीएससी की तयारी शुरू की. सातबार उसने प्रयास की लेकिन सफलता नही मिली. लेकिन पढाई शुरू रखी. मुंबई में सेक्युरिटी एक्सचें बोर्ड ऑफ इंडिया में  नोकरी करते समय पढाई शुरू थी. 4 अगस्त को युपीएससकी के परिणाम घोषीत हुए.

ओबीसी प्रवर्ग से 624 वीं रँक प्राप्त की. अभिनव की बहन अंकिता यह  आयुर्वेदा में  पीएचडी कर रही है. पिता प्रवीण इंगोले यह सेवानिवृत्त शिक्षक है. माता  प्राची इंगोले यह   गृहिणी है. उसने प्राप्त की सफलता के लिए उसकी सभी ओर सराहना की है.