2 गुटों में हिंसक झड़प, रोहडा में खेत के रास्ते को लेकर विवाद

    पुसद. तहसील के रोहड़ा के खेत क्षेत्र में रास्ते के विवाद को लेकर 2 गुटों में झड़प हो गई.  दोनों गुटों के महिला व पुरुष गंभीर रूप से घायल हो गए. घायलों को इलाज के लिए  सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

    खेत जाने का रास्ता किया बंद 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार मारोती किसन टोम्पे और रामराव मोतीराम चव्हाण की रोहड़ा परिसर में खेती है. पिछले 50 सालों से खेत से आने-जाने की परंपरा रही है. लेकिन आरोपी रामराव चव्हाण ने मारोती टोम्पे के आने-जाने का रास्ता रोक दिया था. कई बार ग्राम पंचायत में खेत के रास्ते का विवाद निपटाने का प्रयास भी किया गया और इस विवाद को लेकर खंडाला थाने में कई बार शिकायत भी दर्ज कराई गई. गांव के पुलिस पाटिल,सरपंच, उपसरपंच और विवाद मुक्त समिति अध्यक्ष ने भी खेत से आते-जाते रास्ते में दोनों के बीच हुए विवाद को सुलझाने के कई प्रयास किए थे. लेकिन आरोपी रामराव चव्हाण ने  मारोती टोम्पे के लिए आने जाने का रास्ता बंद कर दिया था.

     घटना के दिन सुबह करीब 11 बजे मारोती टोम्पे खेती के काम के लिए जा रहे थे. इस बीच  जब मारोती ने उनसे पूछा कि रास्ता क्यों रोक रहे हैं, तो रामराव चव्हाण ने गालीगलौज की. और  साथियों के साथ मिलकर  लाठी और पत्थर से मारपीट शुरू की. मध्यस्थता करने गई शिकायतकर्ता की पत्नी को भी पीटना शुरू कर दिया.

    हमले में  घायलों को इलाज के लिए पुसद सरकारी अस्पताल में ले जाया गया. घायलों में  गजानन किसन टोम्पे (38), संगीता गणेश टोपे (28), पार्वती किसन टोम्पे (60), गणेश किसन टोम्पे (33), सविता मारुति टोम्पे (32), अर्चना गजानन टोम्पे (32), विनोद शामराव राठोड़ (32), योगेश रामराव चव्हाण(19), सुनंदा मेहरराव चव्हाण (40), रामराव मेहरराव चव्हाण(45), आरती ईश्वर राठोड़ (27) और सुनीता रामराव चव्हाण( 40)  शामिल है. मामले की जांच पुलिस कर रही है.