जिला परिषद सर्कल में होगी वार्ड समिति की स्थापना

यवतमाल. अब जिला परिषद सर्कल में वार्ड समिति की स्थापना की जाएगी. तहसील के सभी गांवों को प्रत्येक जिला परिषद सर्कल में वार्ड समितियों का गठन करके विकसित किया जाएगा. ऐसी जानकारी जिला परिषद के पंचायत प्रभाग के प्रशासनिक सूत्रों ने दी. जिला परिषद ने इसके लिए पहल की है. राज्य सरकार के ग्रामीण विकास विभाग ने अब जिला परिषद और पंचायत समिति को अधिक महत्व दिया है. प्रत्येक जिले की वास्तविक योजना में जनप्रतिनिधियों की भागीदारी बढाने के लिए, उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर अभिनव योजना के प्रस्तावों को तहसील स्तर पर भेजना और प्रत्येक गांव की समस्याओं को ग्रामीण स्तर पर हल करना है. 

इस समिति के अध्यक्ष जिला परिषद के सदस्य हैं. इसमें पंचायत समिति सदस्य, सरपंच, ग्राम सेवक, ग्राम विकास अधिकारी, विस्तार अधिकारी, पशु पर्यवेक्षक, शाखा अभियंता, केंद्र प्रमुख, चिकित्सा अधिकारी सभी पर्यवेक्षक का समावेश रहेगा. समिति की बैठक प्रत्येक माह के दूसरे सप्ताह में उस वार्ड में होगी. गांव में पेयजल व्यवस्था अद्यावत करना, जलापूर्ति योजना की पाइप लाइन लीक की मरम्मत, जल शुद्धिकरण उपयोग आदि दर्जा दिया जाएगा. इसके कारण, कुल ग्रामीण विकास विभाग के पास ग्रामीण विकास का उपकरण हैं. इसी तरह डायरिया, मलेरिया, क्षयरोग रोकथाम कार्यक्रम, आंगनवाडी के तहत स्कूल पोषण आहार का नियोजन करना, नालों की मरम्मत और दोषपूर्ण सडकों को इस माध्यम से मरम्मत का कार्य किया जाएगा. सूत्र ने कहा कि हाल ही में, यवतमाल जिले में जिला परिषद सर्कल के तहत एक वार्ड समिति का गठन किया जाएगा.