डीजल-पेट्रोल के बढ़े दाम वापस लें

  • जिला कांग्रेस कमिटी ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

यवतमाल. देश कोरोना वायरस के संक्रमण के संकट से जूझ रहा है. लगातार हो रही पेट्रोल-डीजल की दरवृध्दि जनता को महंगाई की खाई में ढकेल रही है. अन्यायकारक इंधन दरवृध्दि के खिलाफ कांग्रेस पार्टी रास्ते पर उतरकर केंद्र सरकार को जवाब पूछ रही है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत काफी कम हुई है. फिर भी मोदी सरकार उसका लाभ जनता को नहीं दे रही. लगातार 19 दिनों से पेट्रोल-डीजल की दरवृध्दि हो रही है. कोरोना की वजह से नागरिकों का जीना मुश्किल हो गया है. ऐसे में यह दरवृध्दि आम जनता पर अन्याय करनेवाली है. इस स्थिति को देखते हुए इंधन दरवृध्दि तत्काल वापस लेने की  मांग का ज्ञापन राष्ट्रपति को जिलाधिकारी के माध्यम से भेजा गया.

इस समय कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष माणिकराव ठाकरे, विधायक डा. वजाहत मिर्जा, सचिन नाईक, शिवाजीराव मोघे, वसंतराव पुरके, कीर्ति गांधी, बालासाहब मांगुलकर, अशोक बोबडे, अरुण राऊत, राहुल ठाकरे, चंद्रशेखर चौधरी, जावेद अन्सारी, जाफर खान, दिनेश गोगरकर, साहेबराव खडसे, शमशोद्दीन, बबलू देशमुख, छोटू पावडे, जितेश नावडे, वैशाली सवाई, पल्लवी रामटेके, शैलेश कोपरकर, अरुण ठाकुर,  राजीव निलावार, अरविंद फुटाणे, अजय किन्हिकर समेत कांग्रेस पदाधिकारी उपस्थित थे.