In the midst of a fight with Corona, the threat of another Chinese virus
Representative Picture

  • निवासी उप जिलाधिकारी प्रा.संजय खड़से

अकोला. कोरोना वायरस फिलहाल नियंत्रण में जरुर है. लेकिन सभी लोगों द्वारा सावधान रहना, सावधानी बरतना, मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग करना, सरकारी सूचनाओं का पालन करना, बहुत जरुरी है, यह विचार बातचीत के दौरान निवासी उप जिलाधिकारी प्रा.संजय खड़से ने प्रकट किए. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर प्रशासन द्वारा बहुत ही गंभीरता से ध्यान दिया जा रहा है. यदि इसी तरह लोगों का भी पूरी तरह साथ मिलेगा तो कोरोना का मुकाबला ठीक तरह से किया जा सकेगा. यह विश्वास भी प्रा.संजय खड़से ने प्रकट किया है.

उन्होंने कहा कि अकोला जिले में सितंबर माह में रोगियों की संख्या काफी बड़ी थी. उन्होंने कहा कि बिलकूल शुरुआत में जो रोगी मिले उसमें 50 प्रतिशत कोरोना के रोगी सिर्फ एक माह में पाए गए. इस परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने बेड उपलब्ध करवाने, वेंटिलेटर, ऑक्सिजन की व्यवस्था हो इसकी तरफ प्राथमिकता से ध्यान दिया. जिसके कारण इन प्रयत्नों से कोरोना पर नियंत्रण होने लगा और 1 अक्टूबर 2020 से कोरोनो वायरस के रोगियों की संख्या नियंत्रण में आने लगी. सितंबर में जो कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या 100 और 150 रहती थी वह संख्या 15 से 20 पर आने लगी.

इस तरह चढ़ता हुआ ग्राफ नीचे आने लगा, यह एक समाधान भी कहा जा सकता है. अन्य जिलों की तुलना में अपने यहां रोगियों की ठीक होने की संख्या बहुत ही अच्छी है. इसी तरह कोरोना वायरस के रोगियों के ठीक होने का प्रतिशत 90 से 92 प्रश अकोला जिले का है. जिसे उत्तम कहा जा सकता है. वर्तमान परिस्थिति में 644 बेड रिक्त है. कोरोना वायरस के रोगियों के लिए आयुर्वेद अस्पताल, लेड़ी हार्डिंग में भी कोविड सेंटर शुरु किया गया है. ऑक्सिजन टैंक बैठाया गया है. इसके अलावा भी कई सुविधाएं उपलब्ध करायी गयी है. जिसके कारण अच्छी सेवाएं दी जा रही हैं. उन्होंने कहा कि अत्यावश्यक सेवाओं से कोई भी रोगी वंचित नहीं रह सकेगा. लेकिन इसके लिए सभी लोगों द्वारा नियमों का पालन करना बहुत जरुरी है. प्रत्येक व्यक्ति ने मास्क लगाकर ही बाहर निकलना चाहिए. सैनिटाईजर का उपयोग करते हुए सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी जीतेंद्र पापलकर के मार्गदर्शन में हम लोग 10 से 14 घंटों तक काम कर रहे हैं. अभी भी हम लोगों का काम करने का तरीका उसी प्रकार का है. उन्होंने कहा कि मेडिकल कालेज की डीन डा.मनीषा गजभिये, मनपा आयुक्त संजय कापडणीस के साथ साथ सभी संबंधित विभागों का पूरा सहयोग मिल रहा है. फिल हाल स्थिति नियंत्रण में है लेकिन सावधानी बरतना बहुत जरुरी है.