शहर तथा जिले में उत्साह के साथ मनायी गयी महाशिवरात्रि

    • एक दिन के लिए खुले सभी मंदिर

    अकोला. शहर तथा जिले में आज महाशविरात्रि का त्यौहार बहुत उत्साह के साथ मनाया गया. अकोला के ग्राम देवता भगवान श्री राजराजेश्वर के मंदिर में सुबह 5 बजे से शाम 5 बजे तक भक्तों ने कतार में खड़े रहकर शिवलिंग के दर्शन किए. राज्य सरकार द्वारा महाशिवरात्रि के त्यौहार को देखते हुए एक दिन के लिए मंदिर खुले रखने की अनुमति दी थी.

    इस कारण आज सभी मंदिरों में लोगों की उपस्थिति रही. श्री राजराजेश्वर मंदिर में लोगों ने, शिवभक्तों ने मुंह पर मास्क लगाकर सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए शिवलिंग के दर्शन किए. एक दिन के लिए मंदिर खुलने पर सभी की इच्छा थी कि वे भगवान शिव के दर्शन करें, उस अनुसार आज मंदिरों में कतार लगाकर लोगों ने दर्शन किए. 

    सभी मंदिरों में लगी कतारें

    शहर के श्री राजराजेश्वर मंदिर के साथ साथ श्री संतोषी माता मंदिर, बारह ज्योर्तिलिंग मंदिर, खोलेश्वर, जागेश्वर, सिद्धेश्वर, सोरटेश्वर मंदिर, जिला महिला अस्पताल के सामने स्थित मंदिर के साथ साथ शहर के सभी मंदिरों में आज लोग उपस्थित रहे. लोगों ने बहुत उत्साह के साथ मंदिरों में भगवान शिव के दर्शन किए तथा अपने घरों में पूजा अर्चना की. इस तरह आज कोरोना वायरस के संकट के बाद भी लोगों ने उत्साह से महाशिवरात्रि मनाई. 

    विधायक गोवर्धन शर्मा ने की पूजा अर्चना

    आज सिद्धेश्वर मंदिर में अकोला पश्चिम के विधायक गोवर्धन शर्मा ने विधिवत पूजा अर्चना की. उन्होंने भगवान शिव से सबका कल्याण करने की प्रार्थना करते हुए कोरोना वायरस का संकट समाप्त करने की प्रार्थना भी की. इस तरह आज महाशिवरात्रि के पर्व पर एक दिन के लिए सरकार द्वारा मंदिर खोलने की अनुमति मिलने के कारण उन्होंने संतोष प्रकट किया.

    अनेक लोगों ने रखा उपवास

    आज महाशिवरात्रि के पाव पर्व पर बड़ी संख्या में लोगों ने उपवास रखा. शहर की करीब करीब कई होटलों में भी आज उपवास के खाद्य पदार्थ बनाए गए थे. जिसमें उपवास की खिचड़ी, उपवास का चूड़ा, उपवास के साबूदाना बड़े के साथ साथ उपवास की मिठाइयां तैयार की गयी थी. होटलों द्वारा यह सब खाद्य पदार्थ लोगों को पार्सल द्वारा दिए जा रहे थे. इसका भी लाभ आज लोगों ने उठाया. इसी तरह बड़ी संख्या में लोगों ने उपवास की सामग्री अपने घरों में भी बनाई. 

    कांवड़ पालकी की भी हुई पूजा अर्चना

    विभिन्न शिवभक्त मंडलों द्वारा आज कांवड़ तथा पालकियों की भी पूजा अर्चना की गयी. बड़ी संख्या में शिवभक्तों ने पालकी को सजा सवार कर उनकी पूजा की. इस तरह महाशिवरात्रि बहुत उत्साह से मनाई गई.