Farmers filled 104 crore electricity bill

    परतवाड़ा. कोरोना के मद्देनजर अनेक आर्थिक व्यवहार बेपटरी हो गए है. जिसका असर ग्रामपंचायतों पर भी पड़ा है. लाकडाउन में लोग घर पर ही होने से अनेक नागरिकों का पूरा कामकाज ठप था. जिससे ग्रापं की टैक्स वसूली का बैंड बजा है. ग्रापं की तिजोरी खाली होने से ग्रापं पर भी बिजली बिल बकाया हो गया है. अचलपुर डिवीजन की अचलपुर, चांदूर बाजार तथा चिखलदरा, इन तीन तहसीलों के 91 ग्रापं पर 4 करोड़ 77 लाख 26 हजार 215 रुपए बिजली बिल बकाया है.  

    काटी जा रही बिजली

    बिजली कंपनी ने बिल वसूली के लिए विशेष मुहिम शुरू की है. बिल नहीं भरने वाली ग्रापं के कनेक्शन भी काटे जा रहे है. जिससे कई गांवों की जलापूर्ति ठप हो गई है. जिसके चलते ग्रापं ने भी बकाया पानी कर व संपत्ति टैक्स वसूली गतिमान की है. जिससे बिल भुगतान को प्राथमिकता दी जा रही है. लोगों की आर्थिक परेशानियों के कारण टैक्स वसूली में दिक्कतों के कारण अनेक ग्रामपंचायत सरपंच व पदाधिकारियों द्वारा जलापूर्ति की बकाया रकम अदा करने अनुदान तथा भुगतान का समयावधि बढ़ाने की मांग की है.