Waste flowing water from drains

तलवेल. कई वर्षों से तलवेल ग्राम में जलकुंभ के नुतनीकरण की मांग जोर पकड़ रही है बावजूद इसके विभाग द्वारा अनदेखी किए जाने से गांववासियों ने सीधे जलकुंभ के नुतनीकरण की मांग  जलसंपदा मं‍त्री से की है. इस संदर्भ में तहसीलदार के माध्यम से नागरिकों ने ज्ञापन भेजकर प्रशासन को एक माह का अल्टीमेटम दिया है. 

नागरिकों का स्वास्थ्य खतरे में 

चांदूर बाजार तहसील के 105 गांवों को नदी के बांध से जलापूर्ति करने की योजना गत् कई वर्षों से शुरू है, लेकिन नियोजन के अभाव में ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों को मानसिक रुप से प्रताड़ित होना पड़ रहा है. एक ओर जहां संपूर्ण राज्य पर कोरोना का खतरा मंडरा रहा है, प्रशासन की ओर से स्वच्छता व स्वास्थ्य को लेकर बार-बार आदेश देने का काम प्रशासन कर रहे है, लेकिन तलवेल प्राधिकरण विभाग है कि हस्तांतरित किए गए जलकुंभ को स्वच्छ करने के लिए भी फूर्रसत नहीं है.

जलकुंभ से लोहे की सलाखें बाहर निकल रही है. अस्वच्छ जलकुंभ से गांववासियों को जलापूर्ति शुरू रहने से नागरिकों के स्वास्थ्य को लेकर खतरा निर्माण हो रहा है. ग्रामपंचायत की ओर से जलकुंभ की मरम्मत की मांग कई वर्षों से की जा रही है. बावजूद इसके संबंधित विभाग इस ओर अनदेखी कर रहा है. 

पड़ रही हैं दरारें 

कई वर्षों से जीवन प्राधिकरण विभाग की ओर से तलवेल में जलापूर्ति शुरू है. जलापूर्ति शुरू रखने के लिए ग्रामपंचायत के अधिकार में रहने वाला जलकुंभ  प्राधिकरण को हस्तांतरित किया गया, लेकिन यह नादुरुस्त रहने से ठेकेदारी पर काम करने वाले कर्मियों ने भी उसे स्वच्छ करने की प्राथमिकता नहीं दिखाई. जलकुंभ का निर्माण कार्य काफी पूराना होने से कर्मचारी भी जलकुंभ की सफाई करने में कतराते है.

ऐसे में जलकुंभ में जगह-जगह दरारें पड़ गई है. चढ़ने उतरने के लिए तैयार की गई सीढ़ियां हिल रही है. जिसके कारण जलकुंभ साफ करने के लिए चढ़़ना बोले तो दुर्घटना को निमंत्रण रहने से कोई जलकुंभ की सफाई भी नहीं कर रहा है. इसलिए जल्द से जल्द नया जलकुंभ बनाने अथवा इसका नुतनीकरण करने की मांग नागरिकों द्वारा की गई.