ट्रक ने साइकिल सवार को रौंदा, गाडगे नगर थाने के सामने हादसा

अमरावती. तेज रफ्तार से दौड़ रहे ट्रक ने साइकिल सवार एक शख्स को रौंद डाला. पहिया सिर को कुचलकर आगे बढ जाने से उसकी घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई, यह भीषण दुर्घटना गाडगे नगर थाने के ठीक सामने शेगांव नाका चौराहे पर शनिवार की सुबह 9 बजे हुई. मृतक जियालदास रंगदोपल मोटवानी (64, कृष्णा नगर, रामपुरी कैम्प) है. गाडगे नगर पुलिस ने ट्रक चालक रामआपा सीताराम यादव (35, तारासाहब बगीचा) को हिरासत में लिया है.

पहिया से सिर चस्पा

जियालदास मोटवानी की गाडगे नगर में दूकान है. वह साइकिल पर सवार होकर पंचवटी चौक की ओर जा रहा था, जबकि सरकारी राशन यातायात करने वाला श्रीनाथ ट्रान्सपोर्ट का ट्रक (एमएच 04 ईएल 3300) भी इसी दिशा में विलास नगर से धामणगांव रेलवे की ओर जा रहा था, तभी शेगांव नाका चौराहे पर ट्रक ने उसे अपनी चपेट में ले लिया. ट्रक का पहिया सिर को चस्पाकर आगे निकल जाने से उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. इस घटना से संतप्त भीड ने ट्रक चालक राम यादव को पकडकर धुना. गाडगे नगर थाने से मात्र 20 कदमों की दूरी पर हुई दुर्घटना के बाद भी 30 मिनट तक पुलिस वहां नहीं पहुंची थी. जिससे लाश वैसे ही लावारिस अवस्था में पड़ी रही. खबर मिलने पर गाडगे नगर पुलिस कर्मी वहां पहुंचे. पुलिस ने ट्रक चालक राम यादव को हिरासत में लिया. 

नो एंट्री में घूसा ट्रक

नवभारत-नवराष्ट्र ने नो एंट्री में भारी वाहन दौडने की खबर प्रकाशित कर पुलिस प्रशासन का ध्यान केद्रीत किया था, लेकिन फिर भी पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाया. जिससे यह दुर्घटना हुई है. सिटी में सुबह 6 से रात 9 बजे तक भारी ट्रकों की आवाजाही पर प्रवेश पाबंदी है, जिसके बाद भी ट्राफिक पुलिस की लापरवाही से सरेआम नो एंट्री में भारी ट्रक दौड़ रहे है. जिसका जीता जागता उदाहरण शेगांव नाका पर हुई दुर्घटना से लिया जा सकता है. जिस समय यह दुर्घटना हुई उस समय सुबह 9 बजे भारी ट्रकों को प्रवेश बंदी रहती है, फिर भी यह ट्रक नो एंट्री में घुसा कैसे यह प्रश्न उठ रहा है. यदि ट्राफिक पुलिस नो एंट्री पर सख्त एक्शन लेते तो यह दुर्घटना नहीं होती. शहर में इसी तरह निअपराध लोग इन भारी वाहनों का शिकार हो रहे है, सीपी डा.आरती सिंह ने इस दिशा में सख्त कदम उठाकर दुर्घटनाओं पर प्रतिबंध लगाने की मांग नागरिकों की ओर से हो रही है. 

एपीएमसी के लिए छुट

इस मार्ग पर एपीएमसी व वेअर हाउस में आवाजाही के लिए भारी वाहनों को छुटी दी गई है, लेकिन दुर्घटनाओं के कारण अब पूरी तरह से भारी वाहनों को शहर में प्रवेश बंदी लागू करने के संदर्भ में सीपी ने दिशा निर्देश दिए है. पुरानी अधिसूचना को बदलकर जल्द ही नई अधिसूचना जारी की जाएगी. 

– अशोक लांडे, पुलिस निरीक्षक, ट्राफिक विभाग