vaccine
Representative Image

    औरंगाबाद. शहर में इन दिनों कोरोना महामारी ने आतंक मचा रखा है। प्रशासन इस महामारी पर रोक लगाने के लिए युध्दस्तर पर जुटा हुआ है। इसी दरमियान कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन देने का निर्णय लिया है। इस निर्णय के बाद औरंगाबाद महानगरपालिका (Aurangabad Municipal Corporation) प्रशासन ने शहर में 5 अप्रैल से मेगा टीकाकरण अभियान (Mega Vaccination Campaign) चलाने का निर्णय लिया है। 

    मनपा प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय (Astik Kumar Pandey) ने बताया कि सरकार ने महानगरपालिका को दो लाख 16 हजार लोगों को टीकाकरण करन का लक्ष्य दिया है, परंतु महानगरपालिका की ओर से तीन लाख लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य तय किया गया है। यह लक्ष्य  10 से 15 दिनों में पूर्ण करने का नियोजन किया जा रहा है। टीकाकरण मुहिम में नागरिकों ने बड़ी संख्या में शामिल होने की अपील पांडेय ने की। गौरतलब है कि पिछले एक माह से शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। संपूर्ण राज्य में दूसरी लहर का कहर बरस रहा है। ऐसे में केन्द्र ने राज्य सरकार को दी सूचना पर राज्य ने स्थानीय स्वराज्य संस्था को मेगा टीकाकरण मुहिम चलाने के आदेश दिया है। 

    कोरोना के कहर को रोकने टीकाकरण ही एक मात्र पर्याय 

    मनपा प्रशासक पांडेय ने कहा कि प्रशासन द्वारा कोरोना महामारी पर रोक लगाने के लिए हरसंभव कदम उठाए जा रहे है। इसके बावजूद कोरोना कहर बरप रहा है। ऐसे में महामारी को रोकने  के लिए मनपा प्रशासन ने शहर में 5 अप्रैल से मेगा टीकाकरण मुहिम चलाने का निर्णय लिया है। इस निर्णय के तहत टीकाकरण मुहिम को सफल बनाने के लिए 100 टीमें काम करेंगी। इस मुहिम में 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को बड़ी संख्या में टीके लगाए जाएंगे।

    100 प्रतिशत कचरा वर्गीकरण के लिए प्रशासन ने शुरु किया प्रयास 

    मनपा प्रशासक पांडेय ने बताया कि स्वच्छ सर्वे में बेहतर कामगिरी करने के लिए महानगरपालिका ने प्रयास तेज किए है। वर्तमान में कचरा वर्गीकरण पर अधिक जोर दिया जा रहा है। वर्तमान में प्रभाग चार में 98 प्रतिशत, प्रभाग 6 में 93 प्रतिशत तथा प्रभाग 9 में 100 प्रतिशत कचरा वर्गीकरण करने के लिए प्रशासन ने प्रयास तेज किए है। स्वच्छ सर्वे में इस साल बेहतरीन प्रदर्शन करने का निर्धार प्रशासन ने किया है। उसके अनुसार, उपाय योजनाएं की जा रही हैं। उन्होंने शहर को कचरे से मुक्त करने के लिए नागरिकों द्वारा किए जा रहे प्रयासों पर भी खुशी जाहिर की। पांडेय ने बताया कि मनपा ने यूएनडीपी, बजाज, कोको कोला, एचयूएल तथा कारपे के सहकार्य से शहर में 4 स्थानों पर सेंटर विकसित किए है। वहीं, मनपा ने खाम नदी और नालों के सफाई पर विशेष लक्ष्य केन्द्रीत किया है। महानगरपालिका, औरंगाबाद स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन, छावनी बोर्ड तथा वैराक कंपनी और इकोसत्व के साथ खाम नदी और नालों में कचरा ना गिरे, इसको लेकर प्रतिबंधात्मक उपाय योजनाएं शुरु की गई हैं।