स्मार्ट सिटी प्रकल्प निधि खर्च करने में औरंगाबाद अव्वल

  • केन्द्र सरकार ने मंजूर किए और 150 करोड़ रुपए

औरंगाबाद. केन्द्र सरकार ने औरंगाबाद शहर को स्मार्ट सिटी प्रकल्प में शामिल करने के बाद मंजूर की कुल निधि को अधिक खर्च करने में महाराष्ट्र में प्रथम स्थान पाया. औरंगाबाद स्मार्ट सिटी ने राज्य में अधिक निधि खर्च करने को लेकर केन्द्र सरकार ने औरंगाबाद स्मार्ट सिटी प्रकल्प को और 150 करोड़ का निधि मंजूर किया है. केन्द्र सरकार के स्मार्ट सिटी योजना के उपसचिव और महाराष्ट्र प्रभारी कुणालकुमार के उपस्थिति में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक ली गई.

 बैठक में महाराष्ट्र में स्मार्ट सिटी योजना में शामिल 10 शहरों द्वारा केन्द्र सरकार ने उपलब्ध कराए गए निधि से किए गए विकास कार्यों का जायजा लिया गया. बैठक के बाद औरंगाबाद स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन के उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी पुष्कल शिवम ने बताया कि यह बैठक नियमित थी. स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत विविध शहरों में विकास कार्य जारी है. इन विकास कार्यों की स्थिति क्या है, इसका जायजा बैठक में कुणालकुमार ने लिया.

अब तक मिला 367 करोड़ का निधि

उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी शिवम ने  बताया कि आज तक केन्द्र सरकार से औरंगाबाद स्मार्ट सिटी योजना में विविध विकास कार्य करने के लिए 367 करोड़ का निधि उपलब्ध हुआ. इसमें 302 करोड़ की राशि विविध प्रकल्पों के माध्यम से इस्तेमाल होने की जानकारी कुणाल कुमार को दी गई. सारी जानकारी हासिल करने के बाद महाराष्ट्र के प्रभारी कुणाल कुमार ने औरंगाबाद स्मार्ट सिटी प्रकल्प के प्रशासन द्वारा खर्च की गई रकम पर खुशी जाहिर की. उन्होंने जायजा लेने के बाद बताया कि इस योजना में औरंगाबाद में और अधिक विकास कार्य करने के लिए केन्द्र सरकार ने 100 करोड़ तथा राज्य सरकार ने 50 करोड़ इस तरह 150 करोड़ का निधि मंजूर किया है. जल्द ही 150 करोड़ की राशि औरंगाबाद स्मार्ट सिटी विभाग को मिलेंगी.