घरों में सेंधमारी करनेवाले गिरोह का भंडाफोड

  • औरंगाबाद, जलगांव और नाशिक जिले में की कई स्थानों पर सेंधमारी  

औरंगाबाद. औरंगाबाद ग्रामीण एसपी कार्यालय के क्राइम ब्रांच पुलिस ने घरों में सेंधमारी करनेवाली शातिर टोली का पर्दाफाश किया है. इस टोली ने औरंगाबाद सहित नाशिक व जलगांव जिले के कई घरों में सेंधमारी कर लाखों  रुपए का माल चुराया है. जिले के  शिउर थाना के वडजी, भडजी, खरज, पारला इन देहातों में इस टोली के सदस्यों ने बड़े पैमाने पर सेंधमारी  की थी.

ग्रामीण अपराध शाखा के पीआई भागवत फुंदे ने बताया कि गत सप्ताह शिउर  थाना क्षेत्र के वडजी गांव निवासी सीताराम गमराज निपटे के घर में अज्ञात चोरों ने सेंधमारी कर  ढ़ाई लाख रुपए उडाए थे. इस घटना को लेकर शिउर थाना में अपराध दर्ज किया गया था. घटना के बाद ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस अधिकारियों ने जांच शुरु की थी. जांच में पुलिस घरों में सेंधमारी करनेवाली इस इस टोली का पर्दाफाश किया.

टोली के 4 सदस्य गिरफ्तार  

ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 25 वर्षीय सोन्या संसार उर्फ अशोक भोसले उर्फ कर्डिले, 20 वर्षीय मायकल शिवराम चव्हाण निवासी विखे हॉस्पिटल के पीछे नागापुर जिला अहमदनगर को पहले गिरफ्तार किया. उनसे पूछताछ करने पर उन्होंने अपने टोली के अन्य सदस्यों के नाम बताए. उस जानकारी पर पुलिस ने वैजापुर तहसील के पारला गांव निवासी 24 वर्षीय मल्लया उर्फ मनोहर लहानू मोरे, 27 वर्षीय बबन लहाणु मोरे को गिरफ्तार किया. इन चारों अभियुक्तों ने औरंगाबाद, जलगांव और नाशिक के जिले के देहातों के कई घरों में सेंधमारी की बात कबूली. इन आरोपियों को आगे की कार्रवाई के लिए शिउर पुलिस के हवाले किया गया है. यह कार्रवाई एसपी मोक्षदा पाटिल, अपर एसपी गणेश गावंड के मार्गदर्शन में क्राईम ब्रांच के पीआई भागवत  फुंदे, पीएसआई संदिप सोलंके, भगतसिंह दूलत, विठ्ठल राख, संजय देवरे, नवनाथ कोल्हे, दीपेश नागझरे, किरण मोरे, रमेश अपसनवाड, वाल्मिक निकम, योगेश तरमाले, ज्ञानेश्वर मेटे, रामेश्वर धापसे, संजय तांदले ने पूरी की.