Janata Curfew, Bhandara 01

भंडारा. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए भंडारा शहर में शनिवार व रविवार को 2 दिनों को जनता कर्फ्यू लगाया गया था. शनिवार से भी ज्यादा सफलता रविवार को मिली. इसमें मुख्य भूमिका झमाझम बारिश ने निभाई. सुबह से शुरू हुई बारिश शाम तक जारी रही. जिससे लोगों को अपने घरों में बंद रहना पड़ा. सड़क पर इक्का दुक्का ही वाहन नजर आए. नगर परिषद की टीम व पुलिस प्रशासन की टीम मुस्तैद थी. बगैर मास्क पहने लोगों से जुर्माना वसूलते हुए देखा गया.

घरों में बंद रहे लोग
रविवार का दिन होने की वजह से नौकरीपेशा व व्यवसायी लोग अपने घरों में बंद रहे. केवल मेडिकल कारणों की वजह से कुछ ही लोगों को सड़क पर देखा गया. जिन्हें नप व पुलिस विभाग की टीम ने प्राथमिक पूछताछ व मार्गदर्शन के बाद छोड़ दिया गया. टीम ने मास्क न पहनने पर लोगों से जुर्माना भी वसूला.

वर्षा में भी डटे रहे पुलिस कर्मी
नगर परिषद कर्मचारी अधिकारी व पुलिस कर्मियों को बारिश के बावजूद ड्यूटी निभाते हुए देखा गया. सुबह से ड्यूटी पर तैनात इन कोरोना वारियर्स के लिए पानी, नाश्ता एवं अन्य सुविधाओं की उपलब्धता कराने की ओर प्रशासन ने विशेष रूप से ध्यान दिया गया था. 

हरछट मनाया गया
उल्लेखनीय है कि उत्तर एवं मध्यभारत के लोगों द्वारा रविवार को संतान की दीर्घायु की कामना को लेकर हलछष्ठि या हरछट त्योहार मनाया गया. जिले में परमात्मा एक अनुयायियों द्वारा षष्ठि हवन का आयोजन किया गया. माना जाता है कि इसी दिन बाबा जुमदेव को ज्ञान प्राप्ति हुई थी. जनता कर्फ्यू के बीच इन दोनों ही त्योहारों को बड़ी सादगी व अनुशासन के साथ मनाया गया.