File Photo
File Photo

अंबाडी (सं). कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए राज्य के सभी स्कूलों- कॉलेजों को बंद करने का फरमान जारी किया गया था. देश में पहली बार जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में तालाबंदी की घोषणा की थी, उसी वक्त राज्य के सभी स्कूलों में ताले लगाने की घोषणा की थी. मार्च माह से स्कूलों, कॉलेजों में लगे ताले अभी तक खुले नहीं हैं.

शहरी तथा ग्रामीण दोनों ही क्षेत्रों में स्कूली वातावरण तैयार करने के लिए पूर्व विद्यार्थियों तथा युवावर्धिनी अकादमी अग्रणी की भूमिका निभा रही है. जिला परिषद प्राथमिक शाला मानेगांव (बाजार) के परिसर को स्वच्छ तथा सुंदर किया. शाला बंद है.

ऑनलाइन तथा शाला के बाहर शिक्षा ऐसा उपक्रम चलाकर शिक्षा दी जा रही है. विद्यार्थी ज्ञान प्राप्त करने के लिए जिस वातावरण की जरूरत होती है,  वह वातावरण अभी तक नहीं बन पाया है. स्कूली वातावरण बनाने के लिए स्कूल का परिसर स्वच्छ करना बहुत जरूरी है. बंद स्कूलों में पढ़ाई का वातावरण बनाने में स्कूल के पूर्व विद्यार्थियों का भी सहयोग रहा.