सेन्ट्रल बैंक की कार्यप्रणाली से ग्राहको में रोष

  • बगैर विड्रॉल के लौटना पड़ा बैरंग

तुमसर. शहर में स्थित सेंट्रल बैंक शाखा की कार्यप्रणाली से  व्यवस्थापक एवं मौजूदा स्टाफ के खिलाफ ग्राहको में रोष का वातावरण निर्माण हुआ है. वर्तमान कोरोना संक्रमण के दौर में बैंक व्यवस्थापन द्वारा केवल 5 ग्राहकों को एक साथ बैंक के भीतर आने दिया जाता है.

अन्य ग्राहक घंटों तक बाहर खड़े रहते हैं. इससे कुछ ग्राहक परेशान होकर बगैर काम किए ही लौट जाते हैं. इस कारण बैंक के व्यवस्थापक एवं कर्मचारियों की कार्यप्रणाली से ग्राहकों में नाराजगी है. इसके चलते दूरदराज से आने वाले लोगों को बैरंग लौटना पड़ रहा है. इस बैंक से पेंशनधारकों को समय पर पेंशन नहीं मिल पा रही है. समय से कार्य नहीं होने से ग्राहकों में रोष व्याप्त है. 

गार्ड ग्राहकों से करते हैं अभद्रता

तहसील के डोंगरला निवासी द्वारकाप्रसाद पटले ने बताया कि वह मंगलवार साप्ताहिक बाजार के दिन मजदूरों को पेमेंट देने के लिए बैंक से विड्रॉल करवाने के लिए पहुंचे थे. घंटों तक तो बैंक के बाहर खड़े रहने के बावजूद विड्रॉल नहीं मिलने से उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा था. इससे उनके द्वारा मजदूरों को पेमेंट नहीं देने से मजदूरों को आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ा था.

इसके अलावा अन्य महिला पुरुष ग्राहकों को भी बैरंग लौटना पड़ा था. उन्होंने बैंक के गार्ड पर ग्राहकों के साथ  अभद्रता करने का आरोप लगाया है. उन्होंने बताया कि कुछ महिलाएं अपने पति की पेंशन लेने के लिए अन्य गांवों से आयी हुई थी. उनके खाते में पैसे जमा होने के बावजूद उन्हें भी बैरंग लौटना पड़ा था.