corona

  • रिपोर्ट के इंतजार में संक्रमित से होता है फैलाव

तुमसर. कोरोना वायरस की जांच के लिए किए जा रहा रैपिड एंटीजन टेस्ट (एआरटी) पर फ्लू लक्षणों वाले लोगों की टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद कई सवाल उठ रहे हैं. वहीं  नागपुर के लैब में होने वाली आरटी-पीसीआर टेस्ट की  रिपोर्ट भी लोगों को दुविधा में डाल रही है. इस तरह के मरीज एक सप्ताह तक परेशानी भरे हालात से गुजरते हैं कि वे कोरोना संक्रमित हैं या नहीं इस दुविधा की स्थिति में व्यक्ति को अपने घर में क्वारंटाइन रहना पड़ता है. 7 दिन संबंधित व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है. इस बीच वह कई लोगों के सम्पर्क में आ जाता है. इससे उसके साथ ही परिवार एवं अन्य लोग पीड़ित हो जाते हैं. संबंधित पीड़ित व्यक्ति का स्वास्थ्य और भी गिरते जाता है. 

रिपोर्ट शीघ्र देने की मांग

शहर के एक व्यक्ति की एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव आयी थी, लेकिन आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसे कोरोना संक्रमित घोषित किया गया था. इससे वह अपने घर में ही क्वारंटाइन हुआ था. इस बीच, वह अपने परिवार के सम्पर्क में आने पर उसके परिवार के अन्य सदस्य भी कोरोना से पीड़ित हुए हैं. यदि आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट तत्काल आती तो पीड़ितों के साथ उनके परिवार को सुविधा होती.

प्रदेश कांग्रेस के सचिव प्रमोद तितिरमारे ने बताया कि गत दिनों राज्य के स्वास्थ्य के मंत्री ने जिले में शीघ्र ही लैब शुरू करने की हामी दी थी, लेकिन अब तक इस दिशा में कोई कार्यवाही नहीं होने से लोगों को परेशानी हो रही है. उन्होंने जिले में लैब शुरू करने अथवा रिपोर्ट तत्काल प्रभाव से भेजने की व्यवस्था करवाने की मांग की है.