Wedding
Representational Pic

मोहाडी (सं). कोरोना तथा लॉकडाउन के कारण वर्तमान स्थिति में विवाह जैसे मांगलिक कार्यक्रम को बहुत ही सादगी से अधिकतम 50 अतिथियों की उपस्थिति में संपन्न कराने संबंधी गाईडलाइन दी है. मोहाडी में कोरोना काल में एक ऐसा विवाह भी आयोजित किया गया, जो एक घंटे में ही पूरा हो गया.

मोहाडी के पालडोंगरी निवासी धर्मपाल रामटेके की सुपुत्री प्रणाली का विवाह पारडी के भांडेवाडी के गिजरानगर के निवासी पारस खोब्रागडे के पुत्र सुशील खोब्रागडे के साथ हुआ. चार माह पहले तय किए गए इस विवाह को तय मुहूर्त पर ही करना का आग्रह वर पक्ष की ओर से किया गया था. इस आधार पर वर पक्ष ने नागपुर में आकर उप जिला अधिकारी तथा नोडल अधिकारी नागपुर की ओर से तथा वधु पक्ष की ओर से वधु के पिता ने उप विभागीय अधिकारी आपत्ति प्रबंधन भंडारा की ओर से विवाह को अनुमति दी.

वर रेडजोन के अंतर्गत आने वाले नागपुर का होने के कारण वर तथा उसके कुछ करीबी लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई. वर के पिता को जब यह जानकारी दी गई कि स्वास्थ्य जांच के बाद भी उनके घर के लोगों को वधु के आया जाने नहीं दिया जाएगा. बीट अंमलदार राजेश बाभरे, पुलिस पाटिल विलास रामटेके, सरपंच सुरेखा खराबे तथा तंटामुक्त समिति के अध्यक्ष तुकडू पुड़के ने वधु के पिता धर्मपाल रामटेके से इस बारे में चर्चा की.

उन्होंने इस विवाह में किसी को निमंत्रित न करने की सलाह दी. वर तथा वधु ने दी जिला प्रशासन तथा अपने माता पिता के आदेश का पालन किया और सर्फि कुछ लोगों की उपस्थिति में विवाह कर लिया. सर्फि एक घंटे में विवाह की पूरी रस्म हुई और नवदंपत्ति को उपस्थित अतिथियों ने शुभार्शिवाद दिए.