दूषित जलापूर्ति को लेकर कांग्रेस आक्रामक, विविध चौराहों पर किया जलाभिषेक आंदोलन

चिखली. चिखली शहर में भी कोरोना का संकट बढ़ रहा है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा बीमारियों की रोकथाम के लिए विविध उपाययोजनाएं की जा रही है. इस बीच शहर में पीले रंग का दूषित पानी आने से नागरिक परेशान हो गए हैं. पीले रंग के दूषित पानी की पूर्ति के खिलाफ कांग्रेस द्वारा आवाजा उठाई गई है.

कांग्रेस ने चिखली शहर के प्रत्येक चौराहे पर जलाभिषेक आंदोलन किया और विविध वार्डों से दूषित पानी लेकर नगर परिषद पर हल्लाबोल किया गया. चिखली नगर परिषद के मुख्याधिकारी ने आश्वासन दिया था कि चार दिनों के भीतर शुद्ध पेयजल वितरण की व्यवस्था की जाएगी लेकिन अब तक दूषित पानी की जलापूर्ति जारी रहने से क्रोधित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पत्थर पर जलाभिषेक कर निषेध व्यक्त किया.

मुख्याधिकारी ने फिर दिया आश्वासन 
मुख्याधिकारी ने फिर आश्वासन दिया कि शीघ्र ही यह समस्या दूर कर जनता को शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाया जाएगा. कांग्रेस द्वारा 10 स्थानों पर जलाभिषेक आंदोलन किया गया. काजी मस्जिद चौक में डा.इसरार व अनिस काजी, चिंच परिसर में दीपक देशमाने, विजय जागृत, प्रकाश सपकाल, प्रदीप पचेरवाल, एड.नन्हई, दिलीप चवरे के नेतृत्व में तथा नूर चौक में  खलील बागवान, शेख अनिस, शेख इमरान-पंचायत समिति चौक में पार्षद दीपक खरात, राजू रज्जाक इसी तरह बासीत जमादार के नेतृत्व में श्री छत्रपति शिवाजी महाराज चौक में राहुल सवडतकर, शुभम पडघान के नेतृत्व में कुंडलीक नगर, गजानन नगर भाग में न.प.सदस्य शिवसेना के दत्ता सुसर, विजय गाडेकर, सिद्ध सायंस चौक में डा.अमोल लहाने, जयस्तंभ चौक में पार्षद आसिफभाई, दीपक थोरात, बाबुलॉज चौक में रफिक कुरेशी, हाजी राउफभाई के नेतृत्व में जलाभिषेक आंदोलन किए जाने के बाद सभी शहर अध्यक्ष अतहरोद्यीन काजी, राकां के शहर अध्यक्ष रवि तोडकर, सोशल मीडिया के एड. प्रशांत देशमुख, रमजान चौधरी न.प. कार्यालय पहुंचे. कार्यालय में मुख्याधिकारी उपस्थित न रहने पर जलापूर्ति विभाग के अभियंता श्रीपाद भालेराव से आंदोलनकर्ताओं ने चर्चा की. 

इस अवसर पर शैलेश देशमुख, महेश सोनुने, पवन गवारे, विक्की जमदार, पप्पु जागृत, मोहन मंडलकर, चेतन जागुत, नीलेश केवट, आकाश देशमाने, गौरव मंडलीक, पवण तायडे, गौरव ठोंबरे, मयूर फोलाने, अतुल चवरे, शेखर देशमुख, छोटू अवसरमोल, अरूण बावने, मिलिंद पालवे, केतन खरात, अल्लुभाई के साथ बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे.