Arrested
प्रतिकारात्मक तस्वीर 

    खामगांव: फर्जी कोरोना पाजिटिव प्रकरण में पुलिस ने वार्डबॉय समेत और 2 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया हैं. जिसके कारण इस मामले में आज तक पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया हैं. जिसमें वार्डबॉय और एम्बुलेन्स चालक आरटीपीसीआर जांच के लिए बुलढाना स्वैब लेकर जाने के दौरान रास्ते के में ही उक्त स्वैब की अदला बदली करते थे. यह जानकारी पुलिस जांच में सामने आ रही हैं.

    कोरोना काल में कर्मचारी, कामगार बीमा संरक्षण योजना के अंतर्गत 1 लाख रू. का आर्थिक लाभ मिलने के लिए स्थानीय जनुना तलाब मार्ग पर स्थित शिवांगी बेकर्स इस पारलेजी बिस्कुट बनाने वाले कंपनी के कुछ कामगारों ने स्थानीय सरकारी कोविड अस्पताल के कुछ ठेकेदारी वार्डबॉय के साथ मिलकर उनके पास से कोरोना मरीज के स्वैब अपने नाम से बताकर पाजिटिव रिपोर्ट प्राप्त कर रहे थे.

    यह प्रकार उजाकर होने के बाद इस मामले में तीन आरोपियों को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था. और अब वार्डबॉय उमेश अवचार, एम्बुलेन्स चालक राहुल चौधरी इन दोनों को गिरफ्तार किया गया है. उन्हें न्यायालय में प्रस्तुत करने पर न्यायालय ने उसे 9 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश दिया हैं.

    उमेश अवचार यह वाररूम में डयूटी करता था, जिस कारण इसी जगह स्वैब की अदलाबदली की जा रही थी. उसी तरह आरटीपीसीआर जांच के लिए कई बार स्वैब बुलढाना लेकर जाना पड़ता था. उस दौरान उमेश एवं एम्बुलेन्स चालक राहुल चौधरी यह रास्ते से ही स्वैब की अदलाबदली करते थे. ऐसा भी पुलिस जांच में आगे आ रहा हैं. प्रकरण की जांच एपीआई रविंद्र लांडे कर रहे हैं.