सड़क निर्माण को लेकर जनता में असंतोष

चिखली. चिखली शहर में बीडीसी बैंक से छत्रपति शिवाजी महाराज चौक तक बस स्टैंड के सामने से जा रही मुख्य सड़क काम का उद्घाटन बुलढाणा जिले के तत्कालीन पालकमंत्री डा. संजय कुटे के हाथों ११ अगस्त हुआ था.

चिखली. चिखली शहर में बीडीसी बैंक से छत्रपति शिवाजी महाराज चौक तक बस स्टैंड के सामने से जा रही मुख्य सड़क काम का उद्घाटन बुलढाणा जिले के तत्कालीन पालकमंत्री डा. संजय कुटे के हाथों ११ अगस्त हुआ था. करोड़ो रुपयों की लागत से बनने जा रही इस सड़क को लेकर शहरवासी काफी खुश थे. किन्तु जैसे ही सड़क निर्माण का कार्य शुरू हुआ वैसे ही वह विवादों से घिर गया. इस बीच शहर के कुछ युवाओं द्वारा राजनीति को दूर रखकर इस सड़क निर्माण को लेकर सोशल वॉर चलाया जिसके बाद हड़बड़ाकर जागे हुए सत्ताधारी व न.प.प्रशासन ने बार-बार लोगों को आश्वासित कर मजबूरन कहना पड़ा कि, यह काम पूरी तरह ईमानदारी व गुणवत्तापूर्ण के साथ होगा. किंतु दुबारा फिर वैसा ही काम किया गया.

जिससे वह फिर सवालों के घेरों में खड़ी होती रही. और बार-बार प्रशासन व पदाधिकारी मुंह के बल गिरते नजर आये. लोगों की मांग पर स्थायी निर्देश 37 के अनुसार उक्त जगह पर काम के निर्देश का बोर्ड प्रशासन ने लगाया मगर उस पर केवल सड़क निर्माण का मैप और स्थानीय नप पदाधिकारी और अधिकारी का नाम छपा है. जबकि उस पर सड़क निर्माण के मैप के साथ ही, काम की जिम्मेदारी लेनेवाली कंपनी, लागत राशि, काम पूरा होने का समय आदि बातों का कही उल्लेख नहीं किया गया. जनता ने नप प्रशासन पर लीपापोती का आरोप लगाया है.

– वरिष्ठ नहीं दे रहे ध्यान
शहर में गत महीनों से चल रहे इस विवादित काम को लेकर जिले के जिलाधिकारी समेत किसी आला अधिकारी ने व इस सड़क का उदघाटन करनेवाले तत्कालीन पालकमंत्री डा. कुटे ने भी दखल नहीं लेने की वजह से प्रशासन के प्रति लोगों में नाराजगी साफ साफ दिखाई दे रही है. इसके पहले भी न.प. प्रशासन द्वारा शहर में हुए हर विकासकार्यों पर सवाल खड़े होते आए हैं. किंतु उस दौरान भी किसी वरिष्ठ अधिकारी व पदाधिकारी ने इसकी खबर नही लेना यह चिंताजनक है. लोगों की मांग है कि, कम से कम अब जिले के जिलाधिकारी इस मामले पर संज्ञान लेकर स्वयं यहा आकर करोड़ों की लागत से बन रही इस सड़क का जायजा लेकर उचित कदम उठाये. बार-बार आपत्ति जताने के बावजूद भी गुणवत्ताहीन काम करने वालों को हटाकर नये सिरे से काम शुरू करें ताकि, सरकार व जनता का पैसा बर्बाद न हो.