कीटनाशकों के छिड़काव से फसल हुई नष्ट

लोणार.तहसील के पारडा दराडे निवासी एक किसान ने फसलों को बचाने के उद्देश्य से कीटनाशकों का छिड़काव किया. लेकिन इस छिड़काव से फसलें बर्बाद हो गई है, जिससे किसान चिंतित हो गया. इन किसानों को जल्द

लोणार. तहसील के पारडा दराडे निवासी एक किसान ने फसलों को बचाने के उद्देश्य से कीटनाशकों का छिड़काव किया. लेकिन इस छिड़काव से फसलें बर्बाद हो गई है, जिससे किसान चिंतित हो गया. इन किसानों को जल्द उचित मुआवजा दिया जाए, ऐसी मांग किसानों की ओर से की गई है.

पारडा दराडे निवासी संजय तेजराव तांगडे का पारडा के गुट क्र. 28 में एक हेक्टेयर 20 आर. खेती है. साथ ही उनके बेटे के नाम पर गुट नं. 32 में 2 हेक्टेयर 80 आर. खेती है. संजय तांगडे ने 30 जुलाई को मेहकर के काबरा कृषि केंद्र से सिनर्जी कंपनी के पैन्थर एवं अस्पायर कंपनी के बायोन्यूट्रीन्स प्लॅटो हौर्टी प्लस यह कीटनाशक खरीदा. उन्होंने अपने तथा बेटे के खेत में उगे सोयाबीन की फसल पर इस कीटनाशक का छिड़काव किया.

किसान को लगा गहरा धक्का
इस छिड़काव का अच्छा नतीजा निकलने की बजाय फसल सूख गई. स•भी फसलों के पत्ते पीले पड़ चुके हैं, जिसका मतलब फसल नष्ट हो रही है. इस घटना से किसान संजय तांगडे को गहरा धक्का लगा है. पहले से यह किसान कर्ज के बोझ तले दबा हुआ है, उसे कर्जमाफी का अब तक कोई •भी लाभ नहीं मिला है. ऐसे में फसलों के नुकसान से इस कर्ज से बाहर निकलना संजय तांगडे लिए मुश्किल हो गया है. इस नुकसान का सरकार से उचित मुआवजा मिलें, ऐसी मांग किसान संजय तांगडे ने की है.